मांझी की मुलाकात और कांग्रेस की बधाई के बाद अब राजद से सीएम नीतीश को मिला ये खुला ऑफर

PATNA : मोदी कैबिनेट में जेडीयू के शामिल नहीं होने के बाद से प्रदेश की राजनीति में उथल-पुथल मचा है। सीएम नीतीश कुमार को सभी विपक्षी दल अपने साथ शामिल किए जाने को लेकर डोरे डाल रहे है। 

कल मांझी और नीतीश के मुलाकात के बाद यह सरगर्मी और बढ़ गई है। पिछले दिनों कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सदानंद सिंह ने जहां मोदी कैबिनेट में जेडीयू के शामिल नहीं होने के फैसले की जमकर तारीफ करते हुए बीजेपी पर जेडीयू के साथ धोखा दिए जाने का आरोप लगाया था, वहीं आज नीतीश कैबिनेट के विस्तार में नवनिर्वाचित मंत्रियों को बधाई दी है। 

हम और कांग्रेस के बाद अब राजद की ओर से भी नीतीश को अपनी ओर से करने की कोशिश शुरु हो गई है। राजद ने इन दोनो पार्टियों से आगे बढ़ते हुए जेडीयू प्रमुख नीतीश कुमार को खुला ऑफर दे दिया है।
 
पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि वर्ष 2020 में बिहार विधानसभा चुनाव में अगर जीत हासिल करनी है और बीजेपी को पछाड़ना है तो हर हाल में सभी गैर भाजपाई पार्टियों को एकजुट होना होगा। रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि इन गैर भाजपाई पार्टियों में नीतीश कुमार भी शामिल हैं। 

वहीं उन्होंने लोकसभा चुनाव में पार्टी की करारी हार को लेकर महागठबंधन और इसके नेतृत्व पर सवाल खड़े किए। 

उन्होंने कहा कि महागठबंधन में सीटों का बंटवारा सही तरीके से नहीं हुआ था। कमजोरउम्मीदवार होने के बावजूद भी प्रत्याशियों को मैदान में उतारा गया। टिकट बंटवारे से लेकर नेतृत्व तक के लिए कोई कॉमन मिनिमम प्रोग्राम नहीं था।
 
रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि पार्टी के नेताओं को सवर्ण आरक्षण बिल का विरोध करना भी भारी पड़ा। सवर्ण आरक्षण बिल के विरोध का फैसला गलत था। इसके साथ ही देश-प्रदेश स्तर पर कई बड़ी चूक हुई है, जिसका सभी को जवाब देना पड़ेगा। 

विवेकानंद की खबर

Find Us on Facebook

Trending News