मुजफ्फरपुर के बाद बोधगया के बालिका गृह में हुई किशोरियों से दरिंदगी, पीड़िता ने कहा – हर रात नशे की दवा देकर करते थे गलत काम

मुजफ्फरपुर के बाद बोधगया के बालिका गृह में हुई किशोरियों से दरिंदगी, पीड़िता ने कहा – हर रात नशे की दवा देकर करते थे गलत काम

GAYA : मुजफ्फरपुर बालिका गृह दुष्कर्म कांड राज्य सरकार के लिए कलंक की तरह है। लेकिन इस शर्मनाक घटना के बाद भी स्थिति पूरी तरह से नहीं सुधरी है. कम से कम बोधगया के बालिक गृह की घटना के बाद इसे समझा जा सकता है। जहां मुजफ्फरपुर गृह कांड जैसी घटना को फिर से दोहरा दिया गया है। यहां लाई गई किशोरियों से दरिदंगी का मामला सामने आया है, जिसके बाद पुलिस और प्रशासन में हड़कंप मच गया है। वहीं इस नए मामले से सरकार की मुश्किलें बढ़नी तय मानी जा रही है।

बताया गया कि नवादा सिविल कोर्ट के आदेश पर वारिसलीगंज थाना क्षेत्र की एक किशोरी को बोधगया के सक्सेना मोड़ स्थित बालिका गृह में रखा गया था, जहां उसका यौन शोषण हुआ है। बालिका ने वहीं के कर्मचारियों और गृह की संचालिक पर कई आरोप लगाए हैं। व्यवहार न्यायालय नवादा के एसीजेएम टू की अदालत में किशोरी ने शपथ पत्र देकर अपने साथ हुई दरिंदगी का सनसनीखेज खुलासा किया है। उसने बताया कि वह 13 जुलाई से 10 अगस्त तक बालिका गृह में रही है। इस दौरान बालिका गृह के मेंटल रूम में रात के समय उसका यौन शोषण किया जाता रहा। 

खाने में देते नशे की दवा, रात में करते थे गलत काम

बताया कि उसे प्रत्येक रात में भोजन के बाद दूध में नशीला पदार्थ दिया जाता था, जिससे वह बेहोश हो जाती थी। सुबह होश में आने पर उसके शरीर में दर्द रहता था और कपड़े भी अस्त-व्यस्त होते थे। पीड़िता ने बताया कि जब इसकी शिकायत बालिका गृह की मैडम से की तो उसे धमकाया गया और रात में बाहर भेजने की बात कही। उसे डांट-फटकार कर चुप करा दिया जाता था।

दूसरी किशोरियां भी हुई है दुष्कर्म का शिकार

पीड़िता ने आरोप लगाया कि ऐसा सिर्फ उसके साथ नहीं हुआ है. बल्कि यहां उसके साथ रहने वाली चार अन्य लड़कियों के साथ भी ऐसी ही घटना हुई है। 

इस मामले में जिला बाल संरक्षण इकाई गया के सहायक निदेशक दिवेश कुमार ने कहा कि बालिका गृह में किसी प्रकार के यौन शोषण की बात पूरी तरह गलत है। अभी तक हमें इस बात की जानकारी भी नहीं है कि किसी ने यौन शोषण को लेकर शिकायत की है।


Find Us on Facebook

Trending News