सीवान पहुंच कर तेजस्वी ने पहले लगायी शहाबुद्दीन के गांव में हाजिरी, फिर की सभा

सीवान पहुंच कर तेजस्वी  ने पहले लगायी शहाबुद्दीन के गांव में हाजिरी, फिर की सभा

SIWAN :   सीवान में आज भी शहाबुद्दीन का इकबाल कमजोर नहीं हुआ है। शहाबुद्दीन जेल में बंद हैं लेकिन फिर भी राजद में उनका जलवा बरकरार है। तेजस्वी यादव भी इस बात को मानते हैं। सोमवार को जब तेजस्वी संविधान बचाओ न्याय यात्रा के तहत सीवान पहुंचे तो वे सबसे पहले शहाबुद्दीन के गांव प्रतापपुर गये। वहां उपस्थिति दर्ज कराने का बाद वे फिर सीवान के गांधी मैदान में पहुंचे और सभा की। 

पहले शहाबुद्दीन के गांव गये तेजस्वी

बाहुबली नेता और राजद के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन अभी जेल में बंद है । सजायाफ्ता होने के बाद भी शहाबुद्दीन की राजद में हस्ती बनी हुई है। उनकी पत्नी हीना शहाब सीवान से राजद के टिकट पर चुनाव लड़ चुकी हैं। लेकिन वे हार गयीं थीं। संविधान बचाने के मकसद से यात्रा पर निकले तेजस्वी जब सीवान पहुंचे तो सबसे पहले शहाबुद्दीन के गांव प्रतापपुर जाना ही फायदेमंद समझा। प्रतापपुर में हाजिरी लगाने के बाद तेजस्वी सीवान लौटे और गांधी मैदान में सभा की। इस सभा में शहाबुद्दीन की पत्नी हीना शहाब थीं।


सेल्फी लेने के लिए तेजस्वी की सभा में अफरा-तफरी

तेजस्वी की सभा जब शुरू हुई तो सेल्फी लेने की होड़ में कुछ समय के लिए अफरा-तफरी मच गयी। कुछ देर के बाद स्थिति सामान्य हुई। तेजस्वी ने अपने भाषण में कहा कि नीतीश कुमार चीफ मिनिस्टर नहीं बल्कि चीट मिनिस्टर हो गये हैं। भाजपा आऱएसएस की विचारधारा को पूरे देश पर थोपना चाहती है। केन्द्र सरकार के वायदे पर जो सवाल करता है उसके धमकाया जाता है। मोदी सरकार ने संविधान पर संकट खड़ा कर दिया है। अगर संविधान खत्म हुआ तो आरक्षण खत्म हो जाएगा। इस लिए मैं संविधान बचाने की यात्रा पर निकला हूं। आप सभी तक ये बात पहुंचाने आया हूं।

सीवान से विजय राज की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News