जहरीली शराब से मौत के बाद खुली नींद : कई जगह पुलिस ने भारी मात्रा में अवैध शराब की खेती को किया नष्ट, बक्सर एसपी ने खुद संभाली कमान

जहरीली शराब से मौत के बाद खुली नींद : कई जगह पुलिस ने भारी मात्रा में अवैध शराब की खेती को किया नष्ट, बक्सर एसपी ने खुद संभाली कमान

BUXER :- बिहार में जहरीली शराब के वजह से हो रही मौत के बाद सुबे की सरकार की हो रही किरकिरी के बाद, बक्सर के पुलिस कप्तान ने खुद कमान संभालते हुए पिछले 3 दिनों से लगातार छापेमारी कर रहे हैं। बिहार में शराबबंदी के बावजूद भी शराब बिकने की खबर को लेकर पुलिस अब अवैध शराब कारोबारियों और शराब माफियाओं पर कहर बनकर टूट पड़ी है़। कप्तान नीरज कुमार सिंह खुद मॉनिटरिंग कर रहे हैं। पिछले 2 दिनों से मुरार थाना के अंसारी गांव सहित नवानगर थाना क्षेत्र केसठ गांव में हजारों लीटर अर्ध निर्मित जावा नष्ट किया गया, वहीं लगभग 85 लीटर कच्ची शराब भी बरामद की गई, जहां छह लोगों पर एफ आई आर दर्ज किया गया। देखने से ऐसा प्रतीत हो रहा है कि शराब की खेती हो रही है।

  आज डुमरांव थाना क्षेत्र के नोनियाडेरा में एसपी नीरज कुमार सिंह के नेतृत्व में कई थानों की पुलिस द्वारा संयुक्त रूप से छापेमारी की गई। जहां से भारी मात्रा में अर्धनिर्मित शराब को नष्ट किया गया, वही कई लीटर कच्ची शराब बरामद की गई। जहां लगभग 5 से 6 घंटे तक चले इस छापेमारी का नेतृत्व खुद बक्सर एसपी नीरज कुमार सिंह कर रहे थे।

गंदी नालियों में तथा जमीन के अंदर गड्ढे में गाड़कर बना रहे थे शराब, जैसे शराब की खेती हो रही है


बताते चलें कि रविवार को डुमरांव थाना क्षेत्र के नोनिया डेरा में पुलिस कप्तान नीरज कुमार सिंह के नेतृत्व में चौकीदार एवं पुलिसकर्मी कीचड़ एवं जलकुंभी लगे जगहों से सैकड़ों केन अर्ध निर्मित जावा बरामद किए गए। जिसे लाइव देख सकते हैं। वहीं जमीन के अंदर 50-50 लीटर के अनगिनत ड्रम बरामद किए गए, जिसमें अर्ध निर्मित जावा रखा गया था जिसे नष्ट कर दिया गया। देखने से ऐसा प्रतीत हो रहा है, जैसे खाली जमीन पर शराब की खेती हो रही है।शराब कारोबारी डालडा के टीन मे गुड़ को सड़ने के लिए गंदे नालियों मे तथा जमीन में गाड़ देते थे। जैसे ही ये गुड सड़ जाता था। ये लोग इसको आग पर पकाकर इसके भाप मे पानी, यूरिया, नशे की गोली व अन्य नशे के पदार्थ को डालकर देसी शराब बनाते थे। कारोबारी इसी शराब को बेच कर हो रहे हैं मालामाल। इसी प्रकार के शराब जहरीला भी हो जाता है। जिसको पीकर बिहार में लगभग 43 लोगों की मौत अब तक हो चुकी है, कई लोग जीवन और मौत से जूझ ही रहे हैं।

अवैध शराब निर्माण को लेकर इलाके के रसूखदारों पर पुलिसकर्मियों को शक

सूत्रो की मानें तो इस करोबार में कई सफेदपोशो एवं महादलित बस्ती के लोग अवैध शराब का कारोबार बड़े पैमाने पर कर रहे हैं। आश्चर्य इस बात का है कि हर बार इतनी भारी मात्रा मे अर्धनिर्मित शराब बरामद होती है, जिसे नष्ट किया जाता है। वही फिर एक हफ्ते में दोबारा इसी प्रकार शराब बरामद होना, कहीं ना कहीं प्रशासन की ढीलेपन का नतीजा है। कही न कही इस काम में ओहदेदार लोगों का भी हाथ हो सकता है। पैसे का लालच देकर इन महादलित परिवारों से यह अवैध करोबार करवाया जा रहा है।

 दंडात्मक कार्रवाई के साथ जागरूकता अभियान 

    वहीं इस मामले में बक्सर एसपी नीरज कुमार सिंह ने बताया कि, पूरे बक्सर जिले में यह अभियान चलाया जा रहा है। हर रविवार को सभी थानों में चौकीदारी परेड कराया जाता है तथा चौकीदारों को संवेदनशील बनाया जाता है। जहां भी शराब की सूचना मिलती है, वहां हम लोग छापेमारी दल बल के साथ करते हैं। साथ ही साथ जन जागरूकता अभियान भी चलाते हैं। जैसा आप देख रहे हैं शराब के सेवन से लोग हताहत हो रहे हैं। इसलिए यह कार्रवाई दंडात्मक के साथ साथ जागरूकता भी है। वहीं कप्तान ने बताया कि जिनके जमीन तथा घर पर शराब बरामद हो रहे हैं उनके ऊपर करवाई भी करेंगे।

    बता दें कि सुबे में जहरीली शराब से अब तक लगभग 43 लोगों की मौत हो चुकी है। जिसमें सरकारी कर्मी से लेकर आम से लेकर खास लोग शामिल हैं। कई दर्जन ऐसे भी लोग हैं जो अभी भी जीवन और मौत से जूझ रहे हैं। ऐसे में बक्सर जिला प्रशासन क्या शराबबंदी को पूर्ण रूप से धरातल पर कंट्रोल कर पाएगी? यह आने वाला वक्त बताएगा। बता दें कि बक्सर जिला उत्तर प्रदेश से सटा हुआ होने के वजह से चेक पोस्ट या गंगा के रास्ते भी शराब की तस्करी बड़े पैमाने पर होती है। इसको लेकर जिला प्रशासन की रणनीति क्या होगी यह आने वाला समय बताएगा।


Find Us on Facebook

Trending News