सबरीमाला में 2 महिलाओं के प्रवेश के बाद हिंसक प्रदर्शन, विरोध में आज केरल बंद

सबरीमाला में 2 महिलाओं के प्रवेश के बाद हिंसक प्रदर्शन, विरोध में आज केरल बंद

NEWS4NATION DESK : बिंदू और कनकदुर्गा नाम की दो महिलाओं द्वारा सबरीमाला मंदिर में प्रवेश करने और भगवान के दर्शन किए जाने के दावे के बाद सबरीमाला मंदिर विवाद और गर्म हो गया है। मंदिर में इन दो महिलाओं के प्रवेश के दावे के बाद राज्य में अब विरोध प्रदर्शन और तेज हो गए हैं। हिन्दूवादी संगठनों ने केरल में हिंसक प्रदर्शन किया। हिंसा में व्यक्ति की मौत हो गई। 

वहीं आज कई हिंदूवादी संगठनोंद्वारा केरल बंद का आह्वान किया है। संगठनों द्वारा बुलाए गए इस केरल बंद का व्यापकर असर दिखने को मिल रहा है। शहर में दुकाने बंद है और सड़को पर सन्नाटा पसरा है।

बंद को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए हैं। पूरे राज्य में पुलिस को अलर्ट पर रखा गया है। बंद के दौरान किसी प्रकार की कोई अप्रिय घटना न हो इसके लिए भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है। 

बताते चले कि केरल स्थित सबरीमाला मंदिर में 10 साल लेकर 50 साल वर्ष तक की उम्र की महिलाओं का प्रवेश प्रतिबंधित था। परंपरा के अनुसार माना जाता था कि भगवान अयप्पा ब्रह्मचारी थे और जो महिलाएं रजस्वला होती हैं उन्हें मंदिर में प्रवेश की अनुमति नहीं होनी चाहिए। इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी, सुप्रीम कोर्ट ने 5 जजों की पीठ बनाई थी। इसने 4-1 से फैसला दिया था कि सबरीमाला मंदिर में किसी भी आयु वर्ग की महिला को प्रवेश से रोका नहीं जा सकता। कोर्ट के फैसले के बाद भी कई धार्मिक संगठन सबरीमाला मंदिर में महिलाओं की प्रवेश नहीं होने देने पर अड़े है। 

Find Us on Facebook

Trending News