विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर विस्तार के बाद अब यहां के कर्मियों को प्रधानमंत्री मोदी ने भेजा नायाब तोहफा, सभी हो गए खुश

विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर विस्तार के बाद अब यहां के कर्मियों को प्रधानमंत्री मोदी ने भेजा नायाब तोहफा, सभी हो गए खुश

VARANASI : काशी के विश्वनाथ मंदिर में नए कॉरिडोर के निर्माण के बाद अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां काम करनेवाले सुरक्षाकर्मियों, सेवादारों और पुजारियों को शानदार तोहफा भेजा है। जिसके बाद काशी विश्वनाथ मंदिर में तैनात सुरक्षाकर्मियों और सफाईकर्मियों को अब भीषण ठंड में संगमरमर पर नंगे पांव ड्यूटी नहीं करनी पड़ेगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके लिए खास जूट के जूते भेजे हैं. आने वाले समय में यह सभी कर्मचारियों को दिया जाएगा।

अभी मंदिर परिसर में चमड़े या रबर से निर्मित जूता-चप्पल के साथ प्रवेश प्रतिबंधित है, लिहाजा उन्हें नंगे पांव ही पूरी ड्यूटी करनी पड़ती थी. कुछ कर्मचारी खड़ाऊं पहनकर काम करते थे। जिसके कारण बहुत परेशानी होती थी, जिसे प्रधानमंत्री मोदी के द्वारा दूर करने की कोशिश की गयी है। पीएम मोदी ने कर्मचारियों और सुरक्षाकर्मियों के लिए एनवायरसमेंट फ्रेंडली जूट का जूता भिजवाया है। 

पहले खेप में 100 जोड़ी जूते आई

मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने बताया कि यह पीएमओ कार्यालय की ओर से ये जूते भेजे गए हैं. अभी जूट के बने 100 जूते कर्मचारियों के बीच बांटे गए हैं। उन्होंने बताया कि अगले कुछ दिनों में यहां काम करनेवाले सभी पुजारी, सीआरपीएफ जवान, पुलिसकर्मी, सेवादार और सफाई कर्मियों को एनवायरसमेंट फ्रेंडली जूट के जूते दिए जाएंगे.

विश्वनाथ मंदिर के गर्भ गृह में जाने पर रोक

विश्वनाथ मंदिर में अब भक्त बाबा के गर्भगृह में प्रवेश नहीं कर पाएंगे। बाहर से ही उन्हें बाबा का झांकी दर्शन कराया जाएगा और जल्द ही जलाभिषेक के लिए गर्भगृह के पास विशेष पात्र लगाए जाएंगे. ऐसे में भक्त बाबा का जलाभिषेक व दुग्ध अभिषेक कर सकेंगे। उक्त फैसला कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए लिया गया है।

Find Us on Facebook

Trending News