अरबों के प्लेन के बाद प्रधानमंत्री के लिए मंगाई करोड़ों की नई हाईटेक कार, जानें कौन सी है वह गाड़ी और क्या है कीमत

अरबों के प्लेन के बाद प्रधानमंत्री के लिए मंगाई करोड़ों की नई हाईटेक कार, जानें कौन सी है वह गाड़ी और क्या है कीमत

NEW DELHI : 2020 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति के लिए 8458 करोड़ रुपए की लागत से दो नए हाईटेक सुविधाओं से लैस हवाई जहाज की खरीदी की गई थी। अब प्रधानमंत्री  देश की सड़क पर भी सबसे महंगी कार से सफर करते हुए नजर आएंगे। बताया गया कि कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब मर्सिडीज-मेबैक S-650 में सफर करते नजर आएंगे. अब पीएम मोदी का यह बख्तरबंद वाहन उनके काफिले के हिस्से के रूप में शामिल किया गया है। यह कार पूरी तरह से सुरक्षित बताया गया है।

पिछले साल इस मॉडल की कार हुई थी भारत में लांच

पीएम का यह वाहन रेंज रोवर वोग और टोयोटा लैंड क्रूजर से अपग्रेड करते हुए इस हाइटेक वाहन को शामिल किया गया है। पिछले साल भारत में S-600 गार्ड को 10.5 करोड़ रुपये में लॉन्च किया था। वहीं अब इसका अपडेटेड वर्जन S650 भी आ गया है, जिसकी कीमत 12 करोड़ रुपये से ज्यादा है। प्रधानमंत्री के लिए इसी मॉडल की कार मंगाई गई है। बताया गया कि इस वाहन में सिक्योरिटी लेवल इतना जबरदस्त है कि यह किसी प्रोडक्शन कार में दिया गया अब तक का सबसे बेहतर प्रोटेक्शन है।

अब तक का सबसे प्रोटेक्टिव वाहन

इस कार में सीट मसाजर के साथ एक शानदार इंटीरियर है. इस बैठने वाला शख्स के लिए लेगरूम बढ़ाया जा सकता है. साथ ही पीछे की सीटों को भी बदल दिया गया है. पीएम मोदी को हाल ही में नई मेबैक-650 में पहली बार हैदराबाद हाउस में देखा गया था, जब उन्होंने भारत की अपनी संक्षिप्त यात्रा पर आए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात की थी. इस गाड़ी को हाल ही में फिर से प्रधानमंत्री के काफिले में देखा गया. Mercedes-Maybach S650 Guard VR10 लेवल प्रोटेक्शन के साथ लेटेस्ट मॉडल है. यह अब तक का सबसे प्रोटेक्टिव वाहन है।

किसी भी धमाके का नहीं होगा कोई असर

मर्सिडीज-मेबैक S650 गार्ड 6.0 लीटर ट्विन-टर्बो V12 इंजन से संचालित होती है।  यह 516 बीएचपी की पॉवर और 900 एनएम का टॉर्क देता है। यह कार अधिकतम 160 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से दौड़ सकती है। कार की बॉडी और खिड़कियां कठोर स्टील कोर बुलेट का सामना करने में सक्षम हैं. इसे ईआरवी रेटिंग भी मिली है यानी किसी भी धमाके के समय इस कार पर कोई असर नहीं पड़ेगा. यहां तक कि कार में बैठा शख्स महज 2 मीटर की दूरी पर होने वाले 15 किलोग्राम तक के टीएनटी विस्फोट से भी सुरक्षित रह सकता है। 

गौरतलब है कि नए कार का अपग्रेडेशन एसपीजी तय करता है. पीएम के काफिले में अपग्रेडेशन को लेकर एसपीजी द्वारा तय किया जाता है. एसपीजी की ही जिम्मेदारी होती है कि उन्हें किस समय और कब पीएम के वाहन को अपग्रेड किया जाना है. एसपीजी पर ही प्रधानमंत्री की सुरक्षा की जिम्मेदारी होती है

Find Us on Facebook

Trending News