TET अभ्यर्थियों के हंगामे के बाद प्रशासन हुई सख्त, पटना में इन इलाकों में तीन दिन तक धारा -144 लागू, नहीं कर सकते हैं प्रदर्शन

TET अभ्यर्थियों के हंगामे के बाद प्रशासन हुई सख्त, पटना में इन इलाकों में तीन दिन तक धारा -144 लागू, नहीं कर सकते हैं प्रदर्शन

PATNA : राजधानी पटना में बीते सोमवार को जिस तरह से बिना किसी सूचना के शिक्षक अभ्यर्थियों ने प्रदर्शन किया, वही प्रदर्शन को रोकने के लिए जिस प्रकार से पुलिस की तरफ से लाठियां बरसाई गई, उसके बाद लोगों में जबरदस्त आक्रोश है। ऐसी स्थिति फिर उत्पन्न न हो, इसे देखते हुए 23 से 25 अगस्त तक पटना सदर इलाके में धारा-144 लागू कर दी गई है। इसमें डाकबंगला चौराहा, गांधी मैदान, बेली रोड और बोरिंग रोड के इलाके आएंगे। साथ ही गर्दनीबाग के चिन्हित स्थल को छोड़कर अन्य जगहों पर धरना, प्रदर्शन एवं जुलूस को प्रतिबंधित कर दिया गया है।

गौरतलब है कि सोमवार को नौकरी की मांग कर रहे शिक्षक अभ्यर्थियों पर पुलिस ने जमकर लाठियां बरसाई। इस दौरान पटना के डाक बंगला चौराहे पर अफरा तफरी की स्थिति बन गई। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि तीन साल से सिर्फ आश्वासन ही मिल रहा और सरकार नौकरी देने के वादे कर रही है। बिहार के विभिन्न जिले के शिक्षक पात्रता परीक्षा टीईटी और एसटीईटी पास अभ्यर्थी पटना पहुंचे और नियुक्ति की मांग को लेकर डाक बंगला चौराहे पर हंगामा करना प्रारंभ कर दिए। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने सरकार और मुख्यमंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।


पुलिस प्रशासन ने इन अभ्यर्थियों को हटाने की कोशिश की, लेकिन वे कुछ भी सुनने को तैयार नहीं थे। इसके बाद पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी। प्रदर्शकारियों का आरोप है कि सरकार पिछले तीन से चार साल से केवल आश्वासन दे रही है। अब तक कुछ नहीं हुआ। कुछ लोगों ने इसे मौजूदा सरकार की नाकामी बताया, वहीं कुछ का गुस्सा डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव को लेकर भी था। एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि तेजस्वी यादव कहते थे कि पहली कैबिनेट की बैठक में 10 लाख लोगों को नौकरी दी जाएगी, अब वे उप मुख्यमंत्री बन गए हैं। उन्होंने आगे कहा कि वे पहले कहते थे कि सरकार बदलिए, अब तो सरकार भी बदल गई। अब हमलोग कब तक इंतजार करें।


Find Us on Facebook

Trending News