अगले सात सालों तक बिहार की सड़कों पर नहीं मिलेंगे गड्ढे, अगर मिले तो फोटो खींचकर भेजें 24 घंटे में होगी मरम्मत

अगले सात सालों तक बिहार की सड़कों पर नहीं मिलेंगे गड्ढे, अगर मिले तो फोटो खींचकर भेजें 24 घंटे में होगी मरम्मत

PATNA: लोकसभा चुनाव का बिगुल बजने से ठीक पहले सीएम नीतीश ने 12 हजार करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन किया है. उनमें से सिर्फ पथ निर्माण विभाग की 10 हजार करोड़ की योजना की शुरूआत हुई है. इसके अलावे सीएम नीतीश ने एपीजे अब्दुल कलाम साईंस सेंटर की भी नींव रखी है. सीएम नीतीश ने बहुप्रतीक्षित आर-ब्लॉक-दीघा फोरलेन सड़क का शुभारंभ किया है. साथ ही सीएम नीतीश नें सूबे की 13431 किमी सड़क का सात साल तक मेंटेनेन्स योजना का शुभारंभ भी किया.

अगले सात सालों में सड़क पर नहीं मिलेंगे गड्ढे

सीएम नीतीश ने पथ निर्माण विभाग की सड़कों को सात साल तक रख-रखाव के लिए OPRMC की शुरूआत की है. इसके तहत 2019 से लेकर अगले सात साल तक 13431 किमी सड़कों की देखरेख और मेंटेनेंस के लिए दीर्घकालीन संधारण योजना की शुरूआत की है. सड़कों के रखरखाव में अगले सात सालों में सरकार को 6654 करोड़ रू खर्च होंगे. इस तरह से हर साल एक किमी सड़क की रखरखाव में 50 लाख रू खर्च होंगे. इसके लिए सड़कों को 72 पैकेज मे बांटा गया है. हर पैकेज का जिम्मा एक एजेंसी को दिया गया है.

अगर सड़क में गड्ढा दिखे तो फोटो खींच कर भेजें

इस योजना के लागू हो जाने से पथ निर्माण विभाग की सड़कों में गड्ढे नहीं दिखेंगे. अगर किसी सड़क में गड्ढा दिखा तो कोई भी व्यक्ति फोटो खींचकर भेज सकता है. विभाग 24 घंटे के भीतर सड़क की मरम्मति कराएगी. सीएम नीतीश ने कहा कि इस योजना के लागू होने से 90 फीसदी सड़क कवर हो जाएगी. सीएम ने पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिव और मुख्य सचिव को निर्देश दिया कि सरकार जब मेंटेनेन्स पॉलिसी लागू कर दी है तो हर हाल मे सौ फीसदी मेंटेनेन्स होनी चाहिए. इसके लिए विभाग के स्तर से निगरानी तंत्र तो विकसित किया ही गया है. फिर भी सड़क निर्माण मेंटेनेन्स पॉलिसी को लोक शिकायत निवारण कानून के तहत लाए ताकि अगर कहीं कोई गडबड़ी हो तो लोग इसकी शिकायत कर सके.


Find Us on Facebook

Trending News