एयर स्ट्राइक में कितने आतंकी मरे के सवाल पर बोले एयर चीफ मार्शल, कहा- सेना का काम टारगेट को हिट करना, कितने मरे गिनना नहीं

एयर स्ट्राइक में कितने आतंकी मरे के सवाल पर बोले एयर चीफ मार्शल, कहा- सेना का काम टारगेट को हिट करना, कितने मरे गिनना नहीं

NEWS4NATION DESK : एयर स्ट्राइक के बाद आज पहली बार एयर चीफ मार्शल ने प्रेस-वार्ता की है। इस प्रेस-वार्ता के दौरान उन्होंने एयर स्ट्राइक को लेकर कई बातें बताई। उन्होंने कहा कि हमारा टारगेट बालाकोट स्थित आंतकी कैंप था और उसे हमने हिट किया। जिसमें पूरी सफलता मिली। 

एयर चीफ मार्शल ने एयर स्‍ट्राइक में मारे गए आतंकियों की संख्‍या के बारे में पूछे जाने पर कहा कि ये गिनना हमारा काम नहीं। हमारा काम टारगेट को हिट करना होता है न कि उस हिट में कितने मरे उसकी संख्या गिनना और एयर स्ट्राइक के दौरान हमने वहीं किया। 

एयर स्ट्राइक के दौरान सिर्फ जंगल को नुकसान पहुंचने की बात का जबाव देते हुए उन्‍होंने कहा कि अगर बम जंगल में गिरा होता तो पाकिस्तान की ओर से कोई जवाब नहीं आता। हमले में आतंकी ठिकाने तबाह हुए इसीलिए पाकिस्‍तान बौखला गया। बौखलाहट में उसने अमेरिका के साथ हुआ समझौता भी तोड़ डाला।

धनोआ ने कहा कि F-16 मिसाइल के टुकड़े हमें मिले है, निश्चित रूप से उन्होंने (पाकिस्तान) F-16 लड़ाकू विमान का इस्तेमाल किया। हमने पाकिस्तान के एक F-16 विमान को मार गिराया। उन्होंने कहा कि F-16 का इस्तेमाल आतंकवाद के खिलाफ किये जाने को लेकर अमेेरिका से उसे मिला है, लेकिन उसने भारत के खिलाफ उसका इस्तेमाल कर अमेरिका के साथ हुए समझौते का भी उल्लंघन किया है। 

वहीं पाकिस्तानी हमले की जबावी कार्रवाई के दौरान पुराने MIG 21 बाइसन के इस्तेमाल के सवाल पर उन्होंने कहा कि जब ऐसी स्थिति आती है तो हर तरह के लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल किया जाता है। यह प्लान ऑपरेशन नहीं था। पाकिस्तान में हमने प्लान ऑपेरशन में इसका इस्तेमाल नहीं किया था।' उन्‍होंने कहा कि पाकिस्तान के विमानों के खदेड़ने के लिए मिग 21 बाइसन के इस्तेमाल किया गया और यह अपग्रेडेड एयरक्राफ्ट है।

 

 

Find Us on Facebook

Trending News