एनएमसी बिल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन, एआईएसएफ ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन का पुतला फूंका

एनएमसी बिल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन, एआईएसएफ ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन का पुतला फूंका

PATNA: एनएमसी बिल के खिलाफ आज ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन के छात्रों ने पीएमसीएच मुख्य द्वार पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन का पुतला दहन किया। आक्रोशित छात्रों ने पीएमसीएच मुख्य द्वार से पीएमसीएच इमरजेंसी गेट तक जुलूस भी निकाला। इस दौरान आम जन विरोधी एनएमसी बिल वापस लो,आम जन के स्वास्थ्य से खिलवाड़ बंद करो, ब्रिज कोर्स वापस लो, नीट के बदले नेक्सट परीक्षा क्यों जवाब दो,प्राइवेट कॉलेजों को लूट की खुली छूट क्यों जबाव दो आदि नारे आक्रोशित छात्रों ने लगाए।

 पीएमसीएच मुख्य द्वार पर पुतला दहन के बाद सभा को संबोधित करते हुए एआईएसएफ के राष्ट्रीय सचिव सुशील कुमार ने कहा कि अपार बहुमत से इतराई मोदी सरकार आम जन पर कहर बरपाने का कोई मौका नहीं छोड़ रही है। एनएमसी बिल को आम जन से सीधा खिलवाड़ बताते हुए कहा कि 6 माह के ब्रिज कोर्स के बाद पांच साल की पढ़ाई करने वाला एमबीबीएस और दो साल की पढ़ाई करने वाला आयुष डॉक्टर बराबर कैसे हो जाएगा।

जिला सचिव जन्मेजय कुमार ने कहा कि पहले नीट की परीक्षा के बाद छात्र एमबीबीएस में दाखिला लेते थे। अब एनएमसी बिल के बाद एमबीबीएस के अंतिम वर्ष में नेक्सट परीक्षा उतीर्ण करना अनिवार्य कर दिया गया है।अगर कोई विद्यार्थी नहीं उतीर्ण नहीं कर पाया तो मात्र बारहवीं पास हीं बन कर रह जाएगा। अध्यक्षता करते हुए जिला उपाध्यक्ष मीर सैफ अली ने कहा कि इस बिल से प्राइवेट कॉलेजों को लूट की खुली छूट मिल जाएगी।

 सभा को एआईएसएफ के पूर्व राज्य उपाध्यक्ष निखिल कुमार झा, राज्य कार्यकारिणी सदस्य सुभाष पासवान, राज्य परिषद सदस्य रजनीश कुमार,तौसीक आलम, आरिष कुमार, केशव कुमार,सुजीत कुमार,सरफराज अली ने भी संबोधित किया।

Find Us on Facebook

Trending News