अजय आलोक का जदयू पर निशाना, कहा-मुझसे असहज हैं तो पार्टी से निकाल दें

अजय आलोक का जदयू पर निशाना, कहा-मुझसे असहज हैं तो पार्टी से निकाल दें

PATNA : जदयू के पूर्व प्रवक्ता अजय आलोक ने बड़ा बयान दिया है। अजय आलोक ने कहा है कि पार्टी अगर मुझसे असहज महसूस कर रही है तो वह सीधे तौर पर बताए। 

अजय आलोक यह बयान सोशल मीडिया के माध्यम से दिया है। उन्होंने अपने ट्वीट किया है पार्टी के प्रवक्ता पद से इस्तीफ़ा दिया था ममता बनर्जी पर मिनी पाकिस्तान बनाने के बयान पर, लेकिन पार्टी से इस्तीफ़ा नहीं दिया था। अब अगर पार्टी कहती हैं तो पार्टी से भी इस्तीफ़ा दे दूंगा। उन्होंने आगे लिकखा पार्टी  मेरे से इतनी असहजता हो गयी हैं तो मुझे निकाल दीजिए। मेरा महिमामंडन पार्टी का नुक़सान हैं। 

बता दें जदयू ने अपने पूर्व प्रदेश प्रवक्ता डॉ. अजय आलोक से पीछा छुड़ा लिया है। पार्टी ने साफ कर दिया है कि उनके बयान का कोई मतलब नहीं है,उन्हें जदयू से काफी पहले पदमुक्त किया जा चुका है। जदयू प्रवक्‍ता राजीव रंजन ने साफ कर दिया कि अजय आलोक के बयान को पार्टी का बयान नहीं माना जाए।

दरअसल जदयू के पूर्व प्रवक्‍ता रहे डॉ अजय आलोक कुछ दिनों से लगातार ट्वीट कर रहे हैं। उऩके ट्वीट से पार्टी के वरीय नेता असहज हो जा रहे हैं।वे पार्टी लाईन से इतर जाकर धडाधड ट्वीट मारे जा रहे हैं।बुधवार को भी अजय आलोक ने ट्वीट कर जदयू के बड़े भाई की तरह व्‍यवहार करने की नसीहत दी थी।

इसके बाद जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने बुधवार कहा कि अजय आलोक द्वारा जदयू नेता के रूप में अनधिकृत रूप से बयान दिया जा रहा है।उन्होंने कहा कि वे पार्टी के किसी पद पर नहीं है।पार्टी प्रवक्ता के पद से दिए गए उनके इस्तीफे को बहुत पहले स्वीकार कर लिया गया है। ऐसी स्थिति में उनके किसी भी बयान का संज्ञान जदयू के आधिकारिक बयान नहीं है।साथ हीं उन्होंने यह भी कहा कि अजय आलोक के बयानों को जदयू खारिज करता है।

बता दें कि अजय आलोक ने बुधवार को भी ट्वीट किया कर कहा था कि - 'सारे संबंधों में कभी कटुता आती है, लेकिन जिम्मेदार लोग उसमें मिठास डालते हैं। भाजपा बिहार में सत्ता में ना रहे, उसको कोई फर्क नहीं पड़ता। लेकिन, बिहार हित में ये संबंध मजबूत रहना चाहिए।खास तब जब JDU अपने को Big Brother की भूमिका में रखती है, तो ज़िम्मेदारी हमारी है ।

विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News