दलितों-महादलितों के बीच आई चेतना का सारा श्रेय नीतीश कुमार को है: रत्नेश सदा

दलितों-महादलितों के बीच आई चेतना का सारा श्रेय नीतीश कुमार को है: रत्नेश सदा

DARBHANGA : कुशेश्वरस्थान विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव में हर वोटर तक पहुंचकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विचारों व कार्यों को पहुंचाने के लिए एनडीए जबर्दस्त मेहनत कर रही है। बारिश के बावजूद बुधवार को भी एनडीए परिवार के चुनाव प्रचार एवं जोश में कोई कमी नजर नहीं आई। एनडीए प्रत्याशी अमन भूषण हजारी के पक्ष में जनसंपर्क अभियान, चुनावी बैठकें, हर हाथ पर्चा अभियान इत्यादि जारी हैं।  

अमन भूषण हजारी के समर्थन में सोनबरसा विधानसभा से जदयू विधायक रत्नेश सदा और बिहार सरकार के पूर्व मंत्री रमेश ऋषिदेव ने बुधवार को मसानखोन, बलहा, भदोल सहित कई अन्य गांवों में जनसंपर्क किया। विधायक रत्नेश सदा ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के शासनकाल में आज दलितों-महादलितों को शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली, पानी, आवास जैसी मूलभूत सुविधाएं आसानी से उपलब्ध हैं। नीतीश कुमार ने दलितों-महादलितों के कल्याण के लिए अलग से योजनाएं धरातल पर लागू की हैं। इन योजनाओं का दलितों-महादलितों को बहुत लाभ मिल रहा है। दलितों-महादलितों के बीच आई चेतना का सारा श्रेय नीतीश कुमार को जाता है। अमन भूषण हजारी को भारी मतों से विजयी बनाने का अनुरोध करते हुए रत्नेश सदा ने कहा कि उन्हें पूरा यकीन है कि कुशेश्वरस्थान के लोग एनडीए प्रत्य़ाशी को ऐतिहासिक जीत दिलाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को विशेष तोहफा देंगे।

वहीं, बिहार सरकार के पूर्व मंत्री रमेश ऋषिदेव ने कहा कि बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने क्या काम किया है, अगर यह जानना है तो आज के बिहार और 2005 के पहले के बिहार को देख लीजिए। बिहार में 2005 से पहले कितनी सड़कें थीं, ये सबको पता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गरीबों, वंचितों, दलितों-महादलितों के उत्थान के लिए अनेक योजनाएं चलाई हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, अनेक योजनाओं का पैसा लोगों के बैंक खातों में सीधे भेज देते हैं। अब किसी तरह का कोई भ्रष्टाचार नहीं है। एनडीए प्रत्याशी अमन भूषण हजारी को भारी मतों से विजयी बनाने की अपील करते हुए रमेश ऋषिदेव ने ये भी कहा कि आज आप बिना डर रात के 12 बजे भी सड़क पर चल सकते हैं, लेकिन 2005 से पहले दोपहर में भी, बीच बाजार में लोगों के साथ लूटपाट हो जाती थी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी ने हमें भयमुक्त बिहार दिया है। 

उन्होंने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री ने दलितों-महादलितों को सम्मान के साथ जीने के अवसर दिए हैं। उनके लिए विशेष योजनाएं लागू की हैं। आज दलितों-महादलितों के बच्चे अच्छी शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। सरकार उनको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए हर तरह की मदद देती है। नीतीश कुमार की इन योजनाओं का लाभ उठाकर दलित-महादलित समाज के अनेक बच्चे हर साल बड़ी-बड़ी प्रतियोगी परीक्षाएं उत्तीर्ण करके बड़े-बड़े पदों पर पहुंच रहे हैं। इन जनसंपर्क कार्यक्रमों में विधायक रत्नेश सदा और पूर्व मंत्री रमेश ऋषिदेव के साथ एनडीए के अनेक पदाधिकारी, कार्यकर्ता, समर्थक और स्थानीय लोग भी मौजूद रहे।

Find Us on Facebook

Trending News