40 मतों के अंतर से पटना के डिप्टी मेयर की कुर्सी गयी, अविश्वास प्रस्ताव में हारे विनय कुमार पप्पू

40 मतों के अंतर से पटना के डिप्टी मेयर की कुर्सी गयी, अविश्वास प्रस्ताव में हारे विनय कुमार पप्पू

PATNA : 40 मतों के अंतर से पटना के डिप्टी मेयर की कुर्सी गयी, अविश्वास प्रस्ताव में हारे विनय कुमार पप्पू। पटना नगर निगम के डिप्टी मेयर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था।जिसमें उऩकी कुर्सी जानी तय मानी जा रही थी।बता दे की दरअसल अविश्वास प्रस्ताव के पीछे निगम के अफसरों की बड़ी चाल है।वहीं मेयर को सलाह देना भी डिप्टी मेयर विनय कुमार पप्पू को महंगा पड़ा है।

आनन-फानन में लाया गया डिप्टी मेयर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव

दरअसल पटना नगर निगम में शह-मात का खेल चल रहा था।डिप्टी मेयर को पद से हटाने के लिए अफसरों-पार्षदों की जोड़ी ने योजनाबद्ध तरीके से काम किया। विरोधी गुट के ही एक होशियार पार्षद ने इसकी हर दिन की रिपोर्ट मेयर को सौंपी। जानकारी मिलते ही मेयर खेमे में हड़कंप मच गया। बताया गयाहै कि 19 के रिपोर्ट कार्ड के अगले दिन मेयर के खिलाफ अविश्वास की तैयारी चल रही थी। खबर मिलते हीं मेयर पुत्र ने मैदान संभाला...अपने दुत को साथ लिया और पार्षदों के घरों के चक्कर काटना शुरू कर दिया। फिर क्या था 15 जून से 18 जून के बीच ही 42 पार्षदों को डिप्टी मेयर के खिलाफ तैयार किया गया।

19 को रिपोर्ट कार्ड आया और डिप्टी मेयर का रिपोर्ट कार्ड भी तय कर लिया गया। अगले दिन ही मेयर के बदले डिप्टी मेयर विनय कुमार के खिलाफ अविश्वास जारी कर दिया गया। उल्टा डिप्टी मेयर के पाले में गेंद डाल दिया गया।

विवेकानंद की रिपोर्ट


Find Us on Facebook

Trending News