मुंगेर में बोले अमित शाह- गठबंधन जीता तो सोमवार से शनिवार तक हर दिन होंगे नए PM, रविवार को देश छुट्टी पर चला जाएगा

MUNGER : बीजेपी के  राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस नेतृत्व वाले गठबंधन पर तंज कसते हुए कहा कि यदि उसकी सरकार आएगी तब सप्ताह के प्रत्येक दिन अलग-अलग नेता प्रधानमंत्री बनेंगे।अमित शाह ने आज मुंगेर में एनडीए उम्मीदवार ललन सिंह के पक्ष में आयोजित एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि इस चुनाव में दो धड़े स्पष्ट रूप से दिखाई दे रहे हैं। एक तरफ एनडीए के साथी हैं जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में है, तो दूसरी ओर 'महामिलावट' गठबंधन खड़ा है, जो राहुल बाबा एंड कंपनी का है। उन्होंने कहा कि मैं उनसे पूछता हूं कि यदि गलती से आपका गठबंधन आ गया तो आप का प्रधानमंत्री कौन बनेगा? उनके पास इसका जवाब नहीं है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि मैं बताता हूं इसके लिए उनके पास क्या योजना है। अगर महागठबंधन की जीत होती है तो सोमवार को ममता बनर्जी, मंगलवार को अखिलेश यादव, बुधवार को मायावती, गुरुवार को लालू यादव, शुक्रवार को चंद्रबाबू नायडू, शनिवार को देवगौड़ा प्रधानमंत्री बनेंगे और रविवार को देश छुट्टी पर चला जाएगा।

अमित शाह ने कहा किबिहार के लोग लालू यादव के राज को याद कर सिहर उठते हैं। भाजपा और जदयू ने बिहार में विकास किया।एनडीए सरकार 5 साल में गरीबों के लिए 133 योजनाएं लाईं। 8 करोड़ गरीबों के घर में शौचालय बना, गरीब माताओं, बहनों को सम्मान के साथ जीने का अधिकार मिला। हर घर बिजली पहुंचाने का काम किया। आयुष्मान भारत योजना से देश के 50 करोड़ गरीबों को पांच लाख तक के इलाज की सुविधा मिली।

अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस शासन के दौरान पाकिस्तान से आए आतंकवादी जब चाहे तब देश में घुस जाते थे और जवानों का सिर काट लेते थे और उन्हें अपमानित करते थे. उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार में आतंकवादियों ने जब पुलवामा पर हमला किया और 40 जवान शहीद हो गए तब सबके मन में गुस्सा था. देश की सेना पहले सर्जिकल स्ट्राइक कर चुकी थी. पाकिस्तान की सेना ने जमीन पर टैंक लगा दिया तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वायु सेना को आदेश दिया और वायु सेना ने पाकिस्तान के घर में घुसकर बालाकोट में आतंकवादियों के अड्डे को तहस-नहस कर दिया। एयर स्ट्राइक के बाद दो जगह मातम था। एक पाकिस्तान में और दूसरा राहुल गांधी के चेहरे पर। पाकिस्तान के आतंकवादी मरे इससे आपके चेहरे का नूर क्यों उड़ गया? 

उन्होंने कहा कि मैं गठबंधन के नेताओं से पूछता हूं कि लालू-राबड़ी ने 15 साल तक बिहार में शासन किया। गरीबों के लिए क्या किया? भ्रष्टाचार, जातिवाद और तुष्टिकरण की राजनीति की। बिहार विकास से वंचित था। भाजपाऔर जदयू ने इकट्ठा जंगलराज का सामना किया। बिहार की सड़कें देखिए, बिजली आपूर्ति देखिए। नीतीश कुमार और सुशील मोदी न होते तो यह संभव नहीं था। लालू-राबड़ी राज में बिहार का विकास दर 3 फीसदी से नीचे थी। एनडीए की सरकार में यह 11.3 फीसदी है। बिहार के लोगों की प्रति व्यक्ति आय 31 फीसदी बढ़ी है।


 उन्होंने कहा किपीएममोदी ने बिहार को सवा लाख करोड़ रुपए का पैकेज देने का वादा किया था। उसमें से 1 लाख 10 हजार करोड़ रुपए की योजना पर काम शुरू हो गया। राहुल गांधी आए थे। वह पूछ रहे थे कि मोदी बताओ बिहार के लिए क्या किया? हमें तो पांच साल हुए हैं। आपने तो चार पीढ़ी शासन किया है। हमारे पांच साल का हिसाब मांगते हो अपनी पांच पीढ़ी का हिसाब दो।

Find Us on Facebook

Trending News