बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • लोकसभा चुनाव के पहले लखीसराय में कई थानों के बदले गए थानाध्यक्ष, नव पदस्थापित पुलिस अधिकारियों की देखिए पूरी सूची
  • लोकसभा चुनाव के पहले लखीसराय में कई थानों के बदले गए थानाध्यक्ष, नव पदस्थापित पुलिस अधिकारियों की देखिए

  • मुजफ्फरपुर में तालाब से युवक का शव पुलिस ने किया बरामद, इलाके में मचा हड़कंप
  • मुजफ्फरपुर में तालाब से युवक का शव पुलिस ने किया बरामद, इलाके में मचा हड़कंप

  • हाजीपुर में कोचिंग जा रही छात्राओं से मनचलों की सरेराह छेड़खानी ! शोहदों की बाइक दुर्घटनाग्रस्त, पहुंचे अस्पताल
  • हाजीपुर में कोचिंग जा रही छात्राओं से मनचलों की सरेराह छेड़खानी ! शोहदों की बाइक दुर्घटनाग्रस्त, पहुंचे अस्पताल

  • आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर बेतिया में भाजपा कार्यालय की शुरुआत, पार्टी के वरिष्ठ नेता ने मंत्रोच्चार के साथ किया उद्घाटन
  • आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर बेतिया में भाजपा कार्यालय की शुरुआत, पार्टी के वरिष्ठ नेता ने मंत्रोच्चार के

  • बेगूसराय के सिमरिया में जानकी पैड़ी तो पटना के मोकामा में बनेगा रिवर फ्रंट, डिप्टी सीएम का बड़ा ऐलान
  • बेगूसराय के सिमरिया में जानकी पैड़ी तो पटना के मोकामा में बनेगा रिवर फ्रंट, डिप्टी सीएम का बड़ा

  • मुजफ्फरपुर में जल संसाधन विभाग की महिला इंजीनियर के मौत मामले में आया नया मोड़, परिजनों ने हत्या का लगाया आरोप
  • मुजफ्फरपुर में जल संसाधन विभाग की महिला इंजीनियर के मौत मामले में आया नया मोड़, परिजनों ने हत्या

  • पटना में बेखौफ अपराधियों का तांडव, रंगदारी नहीं देने पर उद्योगपति पर चलाई ताबड़तोड़ गोलियां
  • पटना में बेखौफ अपराधियों का तांडव, रंगदारी नहीं देने पर उद्योगपति पर चलाई ताबड़तोड़ गोलियां

  • गया में अवैध बालू कारोबारियों और स्थानीय लोगों के बीच हुई मुठभेड़, कई राउंड हुई फायरिंग, 3 लोग हुए जख्मी
  • गया में अवैध बालू कारोबारियों और स्थानीय लोगों के बीच हुई मुठभेड़, कई राउंड हुई फायरिंग, 3 लोग

  • समर्थकों की बेतहाशा भीड़ से सियासी संजीवनी जुटा खेल पलटने की कोशिश में तेजस्वी,क्या इस यात्रा से राजद के लिए निकलेगा नया सूरज..? पढ़िए इनसाइड स्टोरी..
  • समर्थकों की बेतहाशा भीड़ से सियासी संजीवनी जुटा खेल पलटने की कोशिश में तेजस्वी,क्या इस यात्रा से राजद

  • मंजू सिन्हा की जयंती पर पढ़िए नीतीश कुमार के विवाह की रोचक कहानी, शादी तय होते ही हो गए थे नाराज, माननी पड़ी थी दो शर्त
  • मंजू सिन्हा की जयंती पर पढ़िए नीतीश कुमार के विवाह की रोचक कहानी, शादी तय होते ही हो

अमित शाह की ललकार ! नीतीश बाबू आपके लिए BJP के दरवाजे हमेशा के लिए हुए बंद

अमित शाह की ललकार ! नीतीश बाबू आपके लिए BJP के दरवाजे हमेशा के लिए हुए बंद

PATNA: अमित शाह आज बिहार दौरे पर हैं. चंपारण के लौरिया में गृह मंत्री अमित शाह ने जनसभा को संबोधित किया. इस दौरान अमित शाह ने नीतीश कुमार को ललकारा. शाह के साफ कहा कि नीतीश कुमार के लिए भाजपा के दरवाजे हमेशा के लिए बंद हो गए हैं. गृह मंत्री ने चंपारण के लोगों से आह्वान किया और कहा जोरो से बोलो..जंगल राज से मुक्ति चाहिए या नहीं ? 

अमित शाह ने सीएम नीतीश पर जमकर प्रहार किया. उन्होंने कहा कि मित्रों मैं आश्चर्यचकित हूं, इतनी चिलचिलाती धूप में इतनी बड़ी संख्या में लोग पहुंचे हैं. आपके प्यार को मैं प्रणाम करता हूं. महर्षि वाल्मीकि की यह भूमि है, गांधी की धरती है. चंपारण की भूमि को मैं प्रणाम करता हूं. मैं पूछने आया हूं कि विधानसभा चुनाव में आपने भारतीय जनता पार्टी को सबसे बड़ी पार्टी को बनाया था. ज्यादा सीटें भाजपा की थी. फिर भी मोदी जी ने डबल इंजन की सरकार चलाने और अपने वादे के अनुरूप नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाया. लेकिन नीतीश बाबू भी ऐसे व्यक्ति हैं जिन्हें हर 3 साल में प्रधानमंत्री बनने का सपना आता है .पब्लिक की तरफ इशारा करते हुए कहा कि आपको भी मालूम है ना ? नीतीश बाबू जिस जंगल राज के खिलाफ लड़े, वही लालू प्रसाद यादव की गोदी में बैठ गए. सत्ता के कारण सोनिया गांधी के चरणों में लेटे हुए हैं. नीतीश बाबू आपके लिए भाजपा के दरवाजे हमेशा के लिए बंद हो गए. मैं बिहार की जनता से अपील करना चाहता हूं. जेडीयू और आरजेडी का मेल यह अपवित्र गठबंधन है. पानी और तेल जैसा है. क्योंकि पानी और तेल इकट्ठा नहीं होते हैं .यह ऐसा गठबंधन है जिसने में जेडीयू पानी है और आरजेडी तेल है. तेल ही तेल दिखाई पड़ता है. नीतीश बाबू आप प्रधानमंत्री बनने के लिए विकासवादी से वंशज वादी बने. कांग्रेस और आरजेडी की शरण में आप गए हैं .नितीश बाबू की प्रधानमंत्री बनने की महत्वाकांक्षा ने बिहार का बंटाधार कर दिया है.

सभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर प्रहार किया. उन्होंने कहा कि  जिन लोगों ने भी नीतीश बाबू को प्रधानमंत्री बनने का नया सुर पकड़ाया है....जिसके लिए विमान खरीदने वाले हैं, करोड़ों रुपया इस पर खर्च हो रहे हैं. बता दूं फिर से मोदी जी आने वाले हैं. आज पूरे बिहार की स्थिति अराजक हो गई है. अपराध फिर से चरम पर जा रहा है, कानून व्यवस्था ध्वस्त हो गई है. हत्या अपहरण डकैती बलात्कार दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं. बोलने वाले पत्रकारों की हत्या चालू हो गई है. बालू माफिया, शराब माफिया के ग्रुप जिंदा हो रहे हैं, हथियारों के जखीरे पकड़े जा रहे हैं, पीएफआई जैसे संगठन बिहार के अंदर केंद्र बना रहे. फिर भी नीतीश बाबू चुप हैं. मोदी जी ने पीएफआई पर बैन लगा कर पूरे देश को सुरक्षित किया है.

शाह ने नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा कि इस बार ऐसा सबक दें कि दलबदल जंगलराज से मुक्ति हो जाय. इससे पार पाने का एकमात्र रास्ता है मोदी जी के नेतृत्व में 2024 में फिर से दो तिहाई बहुमत से भारतीय जनता पार्टी की सरकार बने.,और मोदी जी को प्रधानमंत्री बनाना है. नीतीश जी ने शराबबंदी की उससे हमको कोई मतलब नहीं. लेकिन यहां नकली शराब से लोग मारे जा रहे हैं. आप आंख मूंद कर बैठे हैं. अमित शाह से आम लोगों से पूछा कि नकली शराब की बिक्री रुकनी चाहिए या नहीं ? इस क्षेत्र की सीमा नेपाल से सटी है. आप एक बार मोदी जी को फिर से प्रधानमंत्री बना दें. जनसांख्यिकी अंगद की पैर की तरह रोक देंगे. 

उन्होंने कहा कि 15000 करोड़ के 3 हाईवे प्रोजेक्ट बिहार के इस इलाके में दिए हैं. नीतीश बाबू पर अब लालू प्रसाद यादव का दबाव है. इसलिए तीनों हाईवे प्रोजेक्ट के लिए जमीन ही नहीं दे रहे. आप बताएं क्या यह तीनों प्रोजेक्ट होने चाहिए या नहीं... नीतीश-लालू की सरकार है तो क्या यह तीनों प्रोजेक्ट होगा? रक्सौल में बनने वाले हवाई अड्डे के लिए भी भूमि उपलब्ध नहीं कराई जा रही है. मैं नितीश बाबू को कहना चाहता हूं जब प्रधानमंत्री बनना हो बनना,लेकिन जमीन तो दे दें. हमारे प्रधानमंत्री जी ने 15000 करोड़ रुपए की मदद जो भेजी है, इसमें रोड़ा मत बनिए, वरना बिहार की जनता आपका हिसाब किताब कर देगी.

मुख्यमंत्री बनायेंगे पर तिथि नहीं बतायेंगे. 

शाह ने लालू-नीतीश के गुप्त समझौते का खुलासा करते हुए कहा कि मैं आज गुप्त समझौते की बात कर रहा हूं.साथ ही नीतीश कुमार को चैलेंज भी कर रहा हूं. नीतीश कुमार ने लालू जी के बेटे को मुख्यमंत्री बनाने का वादा किया है. आपको मालूम है क्या.. मालूम है ना . मगर नीतीश जी तिथि नहीं बताते हैं. आरजेडी वाले आस्वस्थ हैं. मैं नीतीश जी को कहता हूं लोकतंत्र में पारदर्शिता होनी चाहिए. आपने लालू जी के बेटे को मुख्यमंत्री बनाने की की बात कही है तो तिथि भी बतानी चाहिए .क्या आप लोग पूछेंगे नीतीश बाबू से...? 

अमित शाह ने आगे कहा कि आज मैं नीतीश बाबू और लालू से पूछना चाहता हूं. लालू जी हमारे पहले आप केंद्र सरकार में थे. यूपीए की सरकार में मंत्री थे.नीतीश बाबू अब आप लालू जी के गोदी में बैठे हैं. मैं दोनों से पूछना चाहता हूं कि जब केंद्र में यूपीए की सरकार थी तब कितना रुपया दिया था. 2009 से 14 के बीच में सिर्फ 50000 करोड़ों रुपया दिया था. मोदी जी ने 2014 से 19 तक में 50000 करोड़ की जगह 109000 करोड़ रूपया बिहार को दिया. नीतीश बाबू मैं तो मोदी जी का हिसाब लेकर आया हूं ,आप कांग्रेस और आरजेडी का हिसाब लो. केंद्र सरकार पैसा दे रही है लेकिन वह पैसा अब जंगलराज की भेंट चढ़ जाएगा. बिहार में विकास के काम नहीं होंगे.