स्टैच्यू ऑफ यूनिटी परिसर में 'राष्ट्रीय एकता दिवस' परेड में शामिल हुए अमित शाह, कहा - सरदार पटेल जैसे सदियों में पैदा होते हैं

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी परिसर में 'राष्ट्रीय एकता दिवस' परेड में शामिल हुए अमित शाह, कहा - सरदार पटेल जैसे सदियों में पैदा होते हैं

AHMADABAD : सरदार पटेल की 146वीं जयंती के अवसर पर गुजरात के नर्मदा जिले के केवडिया स्थित स्टैच्यू ऑफ यूनिटी परिसर में 'राष्ट्रीय एकता दिवस' परेड आयोजित की गई. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह केवडिया पहुंच कर राष्ट्रीय एकता दिवस परेड में शामिल हुए और सरदार पटेल को श्रद्धांजलि दी. इस दौरान गृह मंत्री ने कहा कि सरदार पटेल का जीवन हर भारतवासी को देश की एकता तथा अखंडता के लिए खुद को समर्पित करने की प्रेरणा देता है। 

शाह ने कहा कि केवड़िया कोई जगह नहीं, बल्कि तीर्थस्थान है। उन्होंने कहा कि पटेल ने देश को एक सूत्र में पिरोया। भारत की एकता को आज कोई तोड़ नहीं सकता है। सरदार पटेल जैसे सदियों में पैदा होते हैं।  लेकिन आजादी के बाद उन्हें उचित सम्मान नहीं दिया गया।

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी परिसर में 'राष्ट्रीय एकता दिवस' परेड

शाह ने सरदार पटेल की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद परेड की सलामी ली, जिसमें अर्द्धसैनिक बल और गुजरात पुलिस के जवान शामिल थे.आईटीबीपी, एसएसबी, सीआईएसएफ, सीआरपीएफ और बीएसएफ के 75 साइकिल चालक तथा त्रिपुरा, तमिलनाडु, जम्मू कश्मीर एवं गुजरात के पुलिस बलों के 101 मोटरसाइकिल चालक ने भी इस परेड में हिस्सा लिया. साइकिल चालक जवानों ने देश के विभिन्न हिस्सों से लगभग 9,000 किलोमीटर की जबकि मोटरसाइिकल सवारों ने 9,200 किलोमीटर की दूरी तय की है.इसके अलावा ओलंपिक, एशियाई और राष्ट्रमंडल खेलों में 23 पदक विजेता भी परेड में शामिल हुए।

560 रियासतों को भारत में मिलाया

देश के पहले गृह मंत्री की 146वीं जयंति पर केवडिया में आयोजित समारोह में अमित शाह  ने कहा कि आज जो परंपरा हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने शुरू की है, देश के प्रथम गृह मंत्री और लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल के जन्म दिन को राष्ट्रीय एकता दिन के रूप में मनाने की परंपरा को आज हम आगे बढ़ा रहे हैं। सरदार पटेल ने 560 रियासतों को भारत में मिलाने में अहम भूमिका निभाई थी। राष्ट्र को एकजुट करने के लिए सरदार पटेल के किए प्रयासों के लिए हर साल उनके जन्मदिन पर राष्ट्रीय एकता दिवस मनाया जाता है।

1875 में हुआ था जन्म

सरदार पटेल का जन्म 31 अक्टूबर, 1875 में नडियाद (गुजरात) में हुआ था. उनकी प्रारंभिक शिक्षा घर पर हुई थी. लंदन जाकर उन्होंने बैरिस्टर की पढ़ाई की और वापस आकर अहमदाबाद में वकालत करने लगे. महात्मा गांधी के विचारों से प्रेरित होकर वह भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में शामिल हो गए। केंद्र सरकार ने 2014 में, 31 अक्टूबर को सरदार पटेल की जयंती को 'राष्ट्रीय एकता दिवस' के रूप में मनाने का फैसला किया था

Find Us on Facebook

Trending News