आँगनबाड़ी सेविका-सहायिका के चयन में होगी पूरी पारदर्शिता, बोले जिलाधिकारी निलेश रामचंद्र देवरे

आँगनबाड़ी सेविका-सहायिका के चयन में होगी पूरी पारदर्शिता, बोले जिलाधिकारी निलेश रामचंद्र देवरे

BETIAH : पश्चिम चम्पारण जिले में आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका के चयन की प्रक्रिया पूर्ण पारदर्शी और निष्पक्ष रूप से की जाएगी. जिलाधिकारी डॉ0 निलेश रामचंद्र देवरे ने कहा है कि सेविका-सहायिका के चयन हेतु ग्राम सभा के एक दिन पूर्व निर्वाचन की तर्ज पर जिले के किसी भी परियोजना की महिला पर्यवेक्षिका को उस आमसभा के लिए प्रतिनियुक्त किया जायेगा. 

उन्होंने कहा की जिस महिला पर्यवेक्षिका की ओर से आवेदन प्राप्त किया जा रहा है उससे अलग महिला पर्यवेक्षिका नियुक्त कर आमसभा का आयोजन कर चयन की प्रक्रिया की जायेगी. इससे  किसी भी प्रकार की गड़बड़ी होने की संभावना नहीं रहेगी. 

उन्होंने कहा की जानकारी मिल रही है कि मध्यमा/इंटर परीक्षा पास होने के जाली प्रमाण पत्र के आधार पर भी आवेदन भरा गया है. इसे अत्यंत गंभीरता से लेते हुए जिला पदाधिकारी की ओर से ऐसे आवेदकों को चेतावनी दी गयी है कि ग्राम सभा के पूर्व ऐसे जाली प्रमाण पत्रों की गहन जांच की जायेगी और जाली प्रमाण पत्र संलग्न करने वाले अभ्यर्थियों के विरूद्ध भारतीय दंड संहिता के सुसंगत धाराओं के तहत कानूनी कार्रवाई की जायेगी.

जिलाधिकारी ने कहा की सेविका-सहायिका के पद पर चयन हेतु आवेदन करने वाले सभी अभ्यर्थियों से किसी व्यक्ति/कर्मी की ओर से रिश्वत की मांग की जाती है अथवा गुमराह कर चयन प्रक्रिया दूषित किये जाने की बात कही जाती है तो इसकी शिकायत दूरभाष संख्या-06254232535 पर दर्ज करायी जा सकती है. इसके साथ ही गुमराह किए जाने वाले व्यक्ति/कर्मी के विरूद्ध साक्ष्य के तौर पर वीडियो-ऑडियो क्लिप उपलब्ध कराया जायेगा तो संबंधित आरोपी के विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जायेगी.

बेतिया से आशीष कुमार गुप्ता की रिपोर्ट


Find Us on Facebook

Trending News