राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव की घोषणा, लालू यादव के बाद अब कौन संभालेगा कमान, दावेदारों में ये हैं प्रमुख नाम

राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव की घोषणा, लालू यादव के बाद अब कौन संभालेगा कमान, दावेदारों में ये हैं प्रमुख नाम

पटना. राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव की घोषणा शनिवार को हो गई. राजद के मौजूदा राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव पिछले कई सालों से इस पद पर हैं. अब नए अध्यक्ष के चुनाव के लिए 26 सितंबर को सदस्यों की सूची का प्रकाशन होगा. वहीं राजद के दिल्ली ऑफिस में 28 सितंबर को नामांकन होगा. 9 अक्टूबर को राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक होगी. उसके अगले दिन 10 अक्टूबर को राष्ट्रीय परिषद की बैठक होगी. उसी दिन अध्यक्ष और सदस्यों का चुनाव एक साथ होगा. 

दरअसल, लालू यादव पिछले कुछ वर्षों से लगातार स्वास्थ्य की समस्या से जूझ रहे हैं. इतना ही नहीं चारा घोटाला सहित कई अन्य कथित घोटालों को लेकर वे न्यायिक चुनौतियाँ भी झेल रहे हैं. इन सबके बीच बिहार और राष्ट्रीय स्तर पर राजद को मजबूत करने की चुनौती भी है. ऐसे में इस बार का राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव कई मायनों में अहम होने की संभावना है. विशेषकर लालू यादव के बाद पार्टी की कमान अब कौन संभालेगा यह बड़ा प्रश्न है. साथ ही उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को लालू यादव अपना उत्तराधिकारी बनाकर पार्टी की कमान सौपते हैं या फिर किसी अन्य को जिम्मेदारी मिलती है. यह भी बेहद अहम होगा. खासकर राजद में लालू परिवार से बाहर का कोई व्यक्ति पार्टी की कमान संभलता है तो यह अपने आप में बेहद खास होगा. 


वैसे पिछले दिनों ही तेजस्वी यादव ने इसी मुद्दे पर कहा था कि वे चाहते हैं कि राजद अपने संस्थापक लालू यादव के नेतृत्व में भी आगे बढ़े. ऐसे में उनका यह बयान बेहद अहम माना जा रहा है. संभव है कि पार्टी की कमान एक बार फिर से लालू यादव के ही हाथ रह जाए. पार्टी के जुड़े सूत्रों का कहना है कि इसकी पूरी संभावना है. लालू यादव के नाम पर पार्टी के हर वरिष्ठ और नए नेताओं को एकजुट रखना बेहद आसन होगा. भले लालू स्वास्थ्य कारणों से कुछ परेशान हों लेकिन उनकी राजनीतिक सक्रियता बनी हुई है. इसी कारण इस बात की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है एक बार फिर से लालू को ही राष्ट्रीय अध्यक्ष बना दिया जाए. करीब करीब सारा निर्णय लालू को ही करना है. 

वहीं इसी सप्ताह राजद प्रदेश अध्यक्ष का ताज भी फिर से जगदानंद सिंह को सौंपा गया है. जगदानंद को जिस तरह से अचानक से फिर से प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया उससे भी एक संकेत है कि लालू को फिर से पार्टी का सुप्रीमो बनाया रखा जाए. बहरहाल दिल्ली में राजद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के लिए जोरशोर से तैयारी चल रही है. अब 10 अक्टूबर को राष्ट्रीय परिषद की बैठक के बाद राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष के नाम का भी खुलासा हो जाएगा. 


Find Us on Facebook

Trending News