जन्म से मुस्लिम उर्फी जावेद का ऐलान, नहीं करूंगी मुस्लिम से शादी, इस्लाम पर नहीं है यकीन अब पढ़ रही है भगवद् गीता

जन्म से मुस्लिम उर्फी जावेद का ऐलान, नहीं करूंगी मुस्लिम से शादी, इस्लाम पर नहीं है यकीन अब पढ़ रही है भगवद् गीता

मुम्बई. बिग बॉस से सुर्ख़ियों में आई बिग बॉस उर्फी जावेद ने अपनी शादी, इस्लाम और मुस्लिम समाज में स्त्रियों की स्थिति पर टिप्पणी कर बड़ा बवाल खड़ा कर दिया है. उन्होंने साफ तौर पर कहा है कि वह न तो मुस्लिम से शादी करेंगी और ना ही उनका इस्लाम पर भरोसा है.

हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में उर्फी ने कहा कि 'मुझे ट्रोल करने वाले ज्यादातर लोग मुस्लिम ही हैं. वे मेरे पहनावे, रहन सहन और पेशेवर जीवन की न सिर्फ आलोचना करते हैं बल्कि मुझे पर इस्लाम की छवि खराब करने का आरोप भी लगाते हैं. वहीं ज्यादातर मुस्लिम मर्द अपनी औरतों को हमेशा कंट्रोल में रखना चाहते हैं. इस वजह से उर्फी न तो इस्लाम में यकीन नहीं करतीं और ना ही वह मुस्लिम व्यक्ति से शादी करेंगी. 

उर्फी ने कहा कि वह इन दिनों भगवद् गीता पढ़ रही हैं. वह हिंदू धर्म के बारे में भी जान रही है. 24 वर्षीय उर्फी अपने पेशेवर में छोटे पर्दे पर किए काम और पहनावे को लेकर काफी विवादों में रही है. खासकर कई कट्टरपंथियों ने उन्हें निशाने पर लिया है. 

उन्होंने कहा,  मुझसे जो लोग नफरत करते हैं उनके साथ मैं कैसे रह सकती हूँ. हालांकि उन्होंने कहा कि वह किसी धर्म को नहीं मानती. उर्फी का कहना है कि मेरे पिता बहुत ही छोटी सोच रखने वाले थे. जब मैं 17 साल की थी, तब उन्होंने मुझे, मेरे भाई-बहनों और मां को छोड़ दिया. मेरी मां बहुत धार्मिक थीं लेकिन उन्होंने हम पर कभी धर्म नहीं थोपा. उन्होंने कहा कि न तो मैं और ना ही मेरे भाई बहन इस्लाम मानते हैं. यह व्यक्तिगत मत है और धर्म मानना न मानना भी हमारा निजी जीवन से जुड़ा मसला है. 


Find Us on Facebook

Trending News