कभी लालू य़ादव की खास रही अन्नपूर्णा देवी बनी बीजेपी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, दशको से संघर्ष कर रहे नेताओं को दिखाया गया ठेंगा

कभी लालू य़ादव की खास रही अन्नपूर्णा देवी बनी बीजेपी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, दशको से संघर्ष कर रहे नेताओं को दिखाया गया ठेंगा

PATNA: भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने अपनी नई टीम का ऐलान कर दिया है। नई टीम में बिहार से भी कई नेताओं को शामिल किया गया है। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा ने संगठन में बड़ा फेरबदल किया है।कई पुराने नेताओं की जगह नये लोगों को मौका मिला है। बीजेपी के राष्ट्रीय मीडिया सह प्रभारी और बिहार के विधान पार्षद संजय मयूख को राष्ट्रीय प्रवक्ता बनाया गया है।वहीं राधामोहन सिंह को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया गया है।जबकि बिहार से आने वाले शाहनवाज हुसैन और राजीव प्रताप रूढ़ी को  भी प्रवक्ता बनाया गया है। विधान सभा चुनाव से पहले बीजेपी की जो नई कमेटी बनी हुई है उससे बिहार के नेताओं में असंतोष पनप गया है।बीजेपी के कैडर वोटर के रूप में माने जाने वाले भूमिहार समाज के किसी नेता को नई टीम में जगह नहीं मिली और पूरी तरह से आउट कर दिया गया है।वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय नेतृत्व ने कभी लालू प्रसाद के खास रहे अन्नपूर्णा देवी को भी संगठन में जगह दे दी गई है।पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने झारखंड से सांसद अन्नपूर्णा देवी को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बना दिया गया है। कुछ समय पहले ही बीजेपी में शामिल होकर सीधे बीजेपी का टिकट लेकर सांसद बनी अन्नपूर्णा देवी को अब संगठन में भी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दे दी गई।

अन्नपूर्णा देवी को एक झटके में मिल गया उपाध्यक्ष की कुर्सी

बता दें कि अन्नपूर्णा देवी लालू प्रसाद की खासमखास रही हैं।लालू प्रसाद जब भी झारखंड जाते थे वो साथ-साथ होती थीं। लोकसभा चुनाव से पहले अन्नपूर्णा देवी ने पाला बदलकर बीजेपी ज्वाइन कर ली।बीजेपी ने उन्हें कोड़रमा से टिकट दिया और जीत कर सांसद बनीं।अब पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के पद से नवाजा है. पार्टी सूत्रों की मानें तो बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनने की अहर्ता होती है।लेकिन यहां से बाहर से आये नेता को सीधे राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बना दिया गया।अनपूर्णा देवी को अचानक पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाये जाने की खबर पार्टी नेताओं को गदले नहीं उतर रही है।

बिहार बीजेपी के किसी नेता नहीं बनाया गया मंत्री

इस बार बीजेपी की राष्ट्रीय टीम घोषित की गई है उसमें बिहार के किसी नेता को न तो महामंत्री बनाया गया और न मंत्री।सबसे खास बात तो यह कि पार्टी जिस वर्ग को अपना आधाार वोट बैंक मानती है उसके किसी नेता को केंद्रीय टीम में जगह नहीं दी गई है।यूं कहें कि विधान सभा चुनाव से पहले बीजेपी नेतृत्व ने पार्टी के लिए समर्पित रहने वाले समाज भूमिहारों को पूरी तरह से आउट कर दिया। पिछली बार की राष्ट्रीय कमेटी में मंत्री के पद पर विधान पार्षद और बेगूसराय से आने वाले रजनीश कुमार को जगह दी गई थी।रजनीश कुमार इसी समाज से आते थे लेकिन इस बार उनका भी पत्ता साफ हो गया। इनके जगह पर किसी दूसरे नेता को भी जगह नहीं मिली। वहीं पिछली बार रेणू देवी को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया गया था इस बार उनकी जगह पड़ोसी जिला मोतिहारी के सांसद राधामोहन सिंह को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया गया है। बिहार में विधान सभा के चुनाव होने हैं ऐसे में संभावना थी कि बिहार के कई नेताओं को जगह मिलेगा लेकिन यहां तो जो थे उनकी जगह पर बिहार से किसी दूसरे नेता को भी मंत्री वाली लिस्ट में जगह नहीं दी गई। नई टीम में पार्टी के लिए समर्पित समाज के किसी नेता को जगह नहीं मिलने से चुनाव से पहले पार्टी के प्रति नाराजगी बढ़ सकती है और इसका खामियाजा बीजेपी कैंडिडेट्स को भुगतना पड़ सकता है।

Find Us on Facebook

Trending News