चारा घोटाले के मॉडल पर बिहार में एक और घोटाला, पार्क के सौंदर्यीकरण के लिए बस, ऑटो और बाइक से मंगाई गई ईंटें

चारा घोटाले के मॉडल पर बिहार में एक और घोटाला, पार्क के सौंदर्यीकरण के लिए बस, ऑटो और बाइक से मंगाई गई ईंटें

GAYA : बिहार के चर्चित चारा घोटाले की तरह एक और मामला सामने आया है। हालांकि इस घोटाले की राशि चारा घोटाले की तरह बहुत बड़ी नहीं है, लेकिन इसे ठीक चारा घोटाले की तरह ही अंजाम दिया गया है। 

मामला प्रदेश के गया जिले से सामने आया है। जहां उद्यान के सौंदर्यीकरण के लिए मिले 1 करोड़ 70 लाख रुपये में जमकर बंदरबांट हुई है। मामले का खुलासा आरटीआई से हुआ है। बताया जा रहा है कि जिले के डेल्हा निवासी समाजसेवी मुकेश चौधरी ने आरटीआई से मामले का खुलासा किया है। 

बताया जा रहा है कि वन विभाग की तरफ से 1करोड़ 70 लाख रुपये की राशि बोधगया के जय प्रकाश उद्यान का सौदर्यीकरण के लिए दिया गया था जिसमें जमकर बंदरबांट हुआ।उद्यान में सौंदर्यीकरण करने का जिम्मा वन विभाग का था। जिसमे पार्क में नए पौधे, इलेक्ट्रॉनिक एंट्री गेट, टॉयलेट सहित कई निर्माण कार्य कराना था। सरकारी आंकड़ों के अनुसार सारा पैसा निकाल लिया गया लेकिन काम के नाम पर पुरानी ईंटो पर सीमेंट चढ़ा कर नया बना दिया गया। 

वहीं पार्क में लगे जाले को नया लगाना था जो वर्षों पुरानी की लगी पड़ी है। विभाग के इस कार्य मे जिस ईंट भट्ठा का वाउचर से पेमेंट दिखा कर पैसा निकाला गया असल मे वंहा से ईंट भी नहीं ली गई। आरटीआई में जिस वाहन से ईंट मंगाने का खुलासा हुआ है वो बाइक, ऑटो और बस का नम्बर है। ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यह है कि आखिर वन विभाग ने बाइक, ऑटो और बस से ईंटें कैसे मंगाई होंगी। इस पूरे मामले में रेंजर ओर डीएफओ पर सौन्दर्यीकरण में लाखों का घोटाला करने का आरोप लग रहा है।

Find Us on Facebook

Trending News