अंशु के परिवार से मिलने के बाद जाप सुप्रीमो पप्पू यादव ने बिहार की जनता के लिए ये क्या कह दिया....

अंशु के परिवार से मिलने के बाद जाप सुप्रीमो पप्पू यादव ने बिहार की जनता के लिए ये क्या कह दिया....

पटनासिटी.... बहादुरपुर थाना क्षेत्र के न्यू अजीमाबाद कॉलोनी में 13 दिसंबर को नाबालिग अंशु की हत्या का मामला सामने आया था। इसके बाद क्षेत्र में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया था। इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार भी कर चुकी है और उन्होंने इस बात को स्वीकारा भी है कि उन्होंने ही अंशु की हत्या की थी। हालाकि अब ये मामला तूल पकड़ता नजर आ रहा है। इस मामले में अंशु के परिजनों का कहना है कि पकड़े गए आरोपियों को फांसी की सजा मिले। इसको लेकर वो बीते दिनों कैंडल मार्च निकालने की तैयारी भ की थी। 

इतना ही नहीं अंशु के परिजनों ने उसके फोटो के आगे एक बैनर लगा रखा है, जिसमें यह लिखा है कि 'अंशु हम शर्मिंदा हैं, तेरे कातिल जिंदा हैं'। बताया जाता है कि अंशु कुमार का पड़ोस की ही रहने वाली एक लड़की से ही प्रेम प्रसंग चल रहा था। 13 दिसंबर रात लड़की ने उसे मिलने के लिए अपने घर के पास बुलाया था, जिसे लेकर अंशु अपने घर से निकला और उसके बाद वह वापस अपने घर नहीं लौटा। अब मृतक के परिजन लगातार आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग कर रहे हैं। 

इस बीच, गुरुवार को जाप पार्टी के सुप्रीमों अंशु के परिजनों से मुलाकात की। परिजनों से मुलाकात करने के दौरान उन्होंने अपने संत्वना व्यक्त करते हुए अंशु को श्रद्धांजलि भी दी। वहीं जाप प्रमुख ने आरोपियों को फांसी देने की मांग करेंगे साथ ही उन्होंने पीड़ित परिजन को 50 हजार रुपए दिए। 

पप्पू यादव ने कहा कि सरकार की कोई गलती नहीं है, गलती बिहार की जनता की है। इस बिहार का जनता जीना ही नहीं जानता है। न खुद के लिए जीना जानता है और न अपने बिहार के लिए। आप जाति के अपराधी का मनोबल बढ़ाएगा तो यही होगा। डरा हुआ बिहार का तरक्की कैसे कर सकते हैं नीतीश जी ये बता दीजिए। 13 करोड़ भगवान के भरोसे हैं।  खीरे ककरी से भी ज्यादा आसान है लोगों की जान लेना। जिस तरह से अंशु की हत्या हो गई वो इसका जीता जागता उदाहरण है। अंशु से एक भूल हो गई, उसकी कोई उम्र नहीं थी अभी। उसका गुनाह इतना बड़ा नहीं था कि उसकी जान ले ली जाए। 

पटनासिटी से रजनीश की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News