महामारी से बचने को कुछ भीः बड़ी संख्या में पड़ोसी राज्य से बिहार आकर टीकाकृत हो रहे लोग, टीके की कमी और बदइंतजामी के हालात किए साझा

महामारी से बचने को कुछ भीः बड़ी संख्या में पड़ोसी राज्य से बिहार आकर टीकाकृत हो रहे लोग, टीके की कमी और बदइंतजामी के हालात किए साझा

KATIHAR: बंगाल से सटे बिहार के सीमांचल का जिला कटिहार बंगाल के लोगों के लिए कोरोना वैक्सीनेशन के मामले में वरदान साबित हो रहा है। प्रतिदिन कटिहार के कई केंद्र में पहुंच कर बंगाल के अलग-अलग जिले से बड़ी संख्या में लोग वैक्सीन ले रहे हैं। यह संख्या हर रोज बढ़ते ही जा रहा है।

बंगाल के लोगों की मानें तो वहां वैक्सीन कम होने के कारण केंद्रों पर अत्याधिक भीड़ जुटती है, मगर सभी को टीके लग नहीं पाते। किसी किसी सेंटर पर बड़ी रकम की वसूली भी की जा रही है, जबकि देश में फ्री टीकाकरण की घोषणा पहले ही की जा चुकी है। बंगाल के निवासियों ने बताया कि वहां के हालात इतने खराब हैं कि उन्हें यहां आकर टीका लेने से जरा भी गुरेज नहीं है। वहां के लोग ट्रेन से 100-150 किलोमीटर का सफर तय कर कटिहार आते हैं और वैक्सीन लगवाते हैं। इसमें मालदा ,रायगंज(उत्तर दिनाजपुर) जिले के लोग की संख्या ज्यादा हैं। सदर अस्पताल में भी ऐसे कई लोग दिख जाते हैं, जो पड़ोसी राज्य से यहां केवल टीका लेने आते हैं।

कटिहार सदर अस्पताल स्थित वैक्सीनेशन केंद्र में तैनात स्वास्थ्य विभाग के कर्मी ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि बंगाल के लोगों ने जहां बंगाल में वैक्सीनेशन को लेकर हो रहे परेशानी को बयां किया। वहीं कटिहार स्वास्थ्य विभाग में तैनात कर्मी ने कहा कि सरकार के आदेश पर जो भी लोग आधार कार्ड लेकर केंद्र में आते हैं। उन्हें टीका दिया जाता है। शुरुआती दिनों में यह संख्या 5 से 10 थी, जो अब 25 से 30 तक पहुंचने लगी है। हमें इसमें समस्या नहीं है क्योंकि पूरे देश में कोरोना का टीका मुफ्त है, और लोग इसे कहीं भी अपनी सुविधानुसार ले सकते हैं।

Find Us on Facebook

Trending News