कैमूर : चावल व्यवसायी ने रची खुद के अपहरण की साजिश, पुलिस ने किया गिरफ्तार

कैमूर : चावल व्यवसायी ने रची खुद के अपहरण की साजिश, पुलिस ने किया गिरफ्तार

KAIMUR : कैमूर पुलिस ने एक झूठे अपहरण के मामले का पर्दाफाश किया है. इस मामले में अपहृत चावल व्यवसाई सहित दो लोगों की गिरफ्तारी हुई है. इनके पास से फिरौती के दो लाख रुपये, एक बाइक और फिरौती मांगे जाने वाली एक मोबाइल को पुलिस ने जब्त कर लिया है. 

दरअसल 21 नवंबर को भभुआ वार्ड नंबर 3 के विवेक कुमार के अपहरण करने की बात उनके परिजनों द्वारा पुलिस को बताई गई थी. जिसमें कहा गया था कि विवेक शाम छह बजे घर से पैदल निकला और पूरी रात नहीं आया. उसका मोबाइल भी बंद है. उसके अगले दिन अपहरणकर्ताओं द्वारा उसके मोबाइल से फोन कर ढाई लाख रुपए फिरौती के रूप में मांग की जाने लगी. पैसे नहीं देने या पुलिस को सूचना देने पर विवेक को जान से मारने की धमकी दी जा रही है. विवेक चावल का धंधा करता था. पुलिस वैज्ञानिक अनुसंधान के आधार पर मामले की तहकीकात कर रही थी. इसी बीच अपहरणकर्ताओं ने कल फिरौती की रकम लेकर कुदरा रेलवे ओवरब्रिज पर परिजनों को बुलाया. जहां पुलिस भी सादे ड्रेस में अपहरणकर्ताओं को पकड़ने के लिए लगी हुई थी. 

लेकिन जैसे यह बात अपहृत विवेक के परिजनों को पता चली. उन्होंने तुरंत पुलिस को मना कर दिया. जिससे उसकी भाई की जान बच सकें. इसक बावजूद पुलिस गोपनीय ढंग से अपहरणकर्ताओं की तलाश में जुटी रही. फिरौती की रकम लेने के बाद अपहरणकर्ता कुदरा से रोहतास जिले की तरफ तेजी से बाइक से भागने लगे. पुलिस भी सादे ड्रेस में उन लोग का पीछा कर रही थी. फिरौती की रकम लिए लगभग दो घंटे होने के बाद भी जब अपहृत विवेक को अपहरणकर्ताओं ने नहीं छोड़ा तो एसपी के आदेश पर उनका पीछा कर रहे पुलिसकर्मियों ने बाइक से भाग रहे  दो अपहरणकर्ता को धर दबोचा. जिसमें पहचान करने पर एक अपहृत विवेक मिला और दुसरा उसका साथी था. पुलिस ने उन दोनों से गहराई से पूछताछ करना शुरू किया. पहले तो उन्होंने दूसरे के द्वारा अपहरण करने  की बात बता कर पुलिस को चकमा देना चाहा. लेकिन पुलिस की दबिश के आगे उसने सच्चाई उगल दिया. उसने बताया की वह चावल का धंधा करता था. लॉकडाउन में उसका धंधा अच्छा नहीं चला और उसे काफी नुकसान हुआ. जिसके बाद वह अपने दोस्त के साथ अपहरण का नाटक कर परिजनों से ढाई लाख रुपए के फिरौती मांगा. फिर दो लाख रुपये पर बात तय हुई. इसी दौरान पुलिस ने दोनों को पकड़ लिया. 

मामले की जानकारी देते हुए कैमूर एसपी दिलनवाज अहमद ने बताया एक चावल व्यवसाई का अपहरण का मामला संज्ञान में आया था. जहां अपहृत विवेक कुमार के परिजनों ने पुलिस से हस्तक्षेप करने की मांग नहीं की. उन लोग का कहना था अपहरण कर्ता द्वारा ढाई लाख रुपए की मांग की गई है. फिर दो लाख रुपये पर वे लोग मान गए हैं. हम लोग पैसा देने जा रहे हैं. लेकिन इतने कम पैसे के लिए अगर पुलिस के हस्तक्षेप से मेरे भाई की जान चली जाती है तो इसका जिम्मेदार पुलिस होगा. फिर पुलिस अपने रिस्क पर सादे ड्रेस में लगी हुई थी. पुलिस की तत्परता से अपहरण का पर्दाफाश हुआ और अपने ही अपहरण के झूठे नाटक करने और फिरौती रकम मांगने और फिरौती की रकम के साथ पकड़े जाने के आरोप में विवेक और उसके सहयोगी शम्भु शरण के विरूध मामला दर्ज कर जेल भेजा जा रहा है. 

कैमूर से देवब्रत की रिपोर्ट



Find Us on Facebook

Trending News