माफी मांगें काइयां नीतीश! रामविलास जी के खिलाफ घटिया बयानबाजी करनेवाले सीएम की सियासी औकात पासवान के आगे कहीं नहीं टिकता

माफी मांगें काइयां नीतीश!  रामविलास जी के खिलाफ घटिया बयानबाजी करनेवाले सीएम की सियासी औकात पासवान के आगे कहीं नहीं टिकता

PATNA : भाजपा ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री एवं बिहार भाजपा प्रवक्ता डॉ. निखिल आनंद ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा प्रेस से बात करते समय बिहार के लोकप्रिय नेता दिवंगत रामविलास पासवान जी के खिलाफ हल्की भाषा का प्रयोग करने के लिए आड़े हाथों लेते हुए माफी की मांग की है। निखिल आनंद ने आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चिराग पासवान के खिलाफ टिप्पणी करने के दौरान बड़े ही शातिराना तरीके से उनके पिता रामविलास पासवान जी का चरित्रहनन करने की भी कोशिश की। 

1967 में सदन गए रामविलास, नीतीश 1985 में

निखिल आनंद ने कहा कि आदरणीय रामविलास पासवान जी की जिंदगी एक खुली किताब की तरह है और नीतीशजी की तरह वे कतई भी छुप्पा- चुप्पा- काईयां किस्म के आदमी नहीं थे। रामविलासजी पहली बार 1967 में सदन पहुंचे और नीतीशजी तो  1985 में पहली बार सदन में पहुंचे। फिर किस शुरुआती दौर में नीतीश जी ने रामविलास जी की मदद करने का दावा कर एहसान जताने की बात कर रहे हैं।

बड़े कद के कद्दावर नेता थे रामविलास

निखिल ने कहा कि आश्चर्य होता है कि नीतीश कुमार जी खुद तेजस्वी के पिठईयां चढ़कर चिराग पासवान को बच्चा बता रहे हैं। रामविलास जी कभी भी नीतीश जी की तरह मजबूर नेता नहीं रहे और बड़े कद के मजबूत कद्दावर नेता थे। इस लिहाज से रामविलास जी के राजनीतिक कद के आगे नीतीश जी औने- पौने- बौने हैं। दुर्भाग्य यह है कि  सबके पिठईयां-कन्हईया चढ़कर खुद को ऊंचा देखने या फिर दूसरों की गोद में बैठ खुद को सुरक्षित समझने वाले नीतीशजी मुगालते में ऐसी घटिया बयानबाजी पर उतर आए हैं।

माफी मांगे नीतीश कुमार

निखिल आनंद कहा कि बिहार के एक लोकप्रिय जननेता रहे शख्सियत के खिलाफ हल्की टिप्पणी कर चरित्र हनन की कोशिश के लिए नीतीश कुमार जी अविलंब रामविलासजी के परिवार, प्रशंसकों और समर्थकों से सार्वजनिक माफी मांगें।

रामसूरत राय ने भी किया हमला

माननीय रामविलास पासवान जी ने अपने बल पर संघर्ष करके, स्वयं को स्थापित किया था| वे कभी भी दूसरे के सहारे पर मंत्री नहीं बने| जो किया, डंके की चोट पर किया| उनकी ही छवि @iChiragPaswan  में दिखती है| लेकिन एक धोखेबाज मुख्यमंत्री इन बातों को नहीं समझ सकता है| 


Find Us on Facebook

Trending News