बिहार का कुख्यात साइको किलर गिरफ्तार, पिता के हत्यारे को 32 गोली मारने के बाद तीन घंटे वहीं बैठा रहा

बिहार का कुख्यात साइको किलर गिरफ्तार, पिता के हत्यारे को 32 गोली मारने के बाद तीन घंटे वहीं बैठा रहा

डेस्क... आपने फिल्मों में कई बार देखा होगा जब किसी युवक के पिता की हत्या या फिर किसी परिवार वाले की हत्या हो जाती है तो वो युवक अक्सर बदला लेने के लिए हथियार उठा लेता है और फिर अपने परिजन के हत्या का बदला लेने वो बदमाशों को चुन-चुनकर मारता है। ऐसा ही रियल लाइफ में तब देखने को मिला जब गत दिनों वैशाली पुलिस ने एक ऐसे साइको किलर को पकड़ा, जिसने अपने पिता का बदला लेने के लिए अपनी पूरी जिंदगी को ही गुनाह के अंधेरे में झोंक दिया। 

गूगल पर अपने बारे में सर्च करने को कहा

बता दें कि पटना कंकड़बाग का रहने वाले अविनाश श्रीवास्त की जिंदगी भी फिल्मी कहानी से मिलती जुलती नजर आती है, जिसने पिता के हत्यारों से बदला लेने के लिए अपनी पूरी जिंदगी को गुनाहों के हवाले कर दिया। आलम यह रहा है कि एक हत्या करने के बाद जब उसने ताबड़तोड़ हत्या करना एक बार शुर कर दिया तो फिर ये सिलसिल चल पड़ा। वर्ष 2016 में हाजीपुर के महुआ थाना क्षेत्र के हरपुर बेलवा स्थित सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया में चोरी करते उसे पकड़ा गया। उस समय जब पुलिस ने उसके बारे में पूछा तो उसने कहा कि गूगल में साइको किलर अमित सर्च करिए जब पुलिस ने सर्च किया तो पुलिस के होश उड़ गए, जबकि अविनाश खुश हो गया।

गौरतलब है कि गत दिवस अपराध की दुनिया में साइको किलर के नाम से कुख्यात पटना के अविनाश श्रीवास्तव को एक बार फिर वैशाली की स्पेशल गठित टीम डिस्ट्रिक्ट इंटेलिजेंस यूनिट और महनार पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसके साथ पुलिस ने पटना के फुलवा शरीफ के रहने वाले स्मैक तस्कर अल्तमस को भी पकड़ा है। 20 से अधिक लोगों की हत्या का आरोपी रह चुका साइको किलर राजद के पूर्व एमएलसी ललन श्रीवास्तव का बेटा है। इनकी गिरफ्तारी महनार इलाके से की गई है। दोनों के कब्जे से पुलिस ने लगभग 20 किलो गांजा बरामद किया है। पूछताछ के बाद पुलिस ने दोनों को शुक्रवार को ही हाजीपुर मंडल कारा भेज दिया। एसपी मनीष कुमार ने बताया कि महनार थाना क्षेत्र से दो अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है। इसमें अविनाश श्रीवास्तव और पटना के फुलवा शरीर का रहने वाला अल्तमस शामिल है। दोनों को लंबा अपराधिक इतिहास रहा है। 

20 से अधिक हत्याओं का आरोप है इन पर

पुलिस के मुताबिक पकड़ा गया कुख्यात अविनाश पटना के कंकड़बाग थाना क्षेत्र स्थित एमआइजी कॉलोनी के रोड नंबर 30 का रहने वाला है। उस पर बिहार में करीब 20 से अधिक हत्याओं का आरोप है। बीते 26 सितंबर 2020 को पटना पुलिस ने उसे रक्सौल से गिरफ्तार किया था। कुछ दिन पूर्व जमानत पर जेल से छूटते ही वह अपराध करने लगा। 

 पिता को मारी थी 32 गोलियां

पुलिस के मुताबिक अविनाश दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया से एमसीए कर चुका है। इंफोसिस कंपनी में वह ₹40000 प्रति माह के वेतन पर नौकरी भी कर चुका है। वर्ष 2002 में हाजीपुर में उसके पिता एवं तत्कालीन एवं एमएलसी लल्लन श्रीवास्तव की गोली मारकर हत्या कर दी गई। पिता की हत्या का बदला लेने के लिए उसने हथियार उठा लिया और वर्ष 2003 में अविनाश ने अपने पिता के हत्यारोपी मोइन खान उर्फ पप्पू खां की हाजीपुर में गोली मारकर हत्या कर दी। उसे 32 गोली मारी थी। हत्या के बाद वह लाश के पास करीब 3 घंटे तक बैठा रहा है। इसके बाद उसने अपने पिता के हत्यारों को चुन।चुन कर मारा। 

पटना के डिप्टी मेयर के पति को एके-47 से बना था

पुलिस के मुताबिक अविनाश श्रीवास्तव ने पटना के डिप्टी मेयर अमरावती देवी के पति दिना गोप को एके 47 से भून दिया था। इसके साथ ही उसने कैप्टन सुनील के भाई विजय गोपा, जय गोप, लालू गोप, अजीत गोप उर्फ पप्पू, अधिवक्ता सरदार जी, इम्तियाज, चनारी गोप, स्वर्ण व्यवसाई मनोज सोनर राहुल यादव समेत 20 लोगों की हत्या की। वहीं, जब उसकी तलाश तेज हुई तो मां उसे लेकर सिलीगुड़ी चली गई। इस बीच वह बिहार आकर हत्या लूट और चोरी की घटना को अंजाम देता रहा।  उसने कहा कि फिल्म गैंग ऑफ वासेपुर में उसके ब्रेस्ट फायर वाले क्लाइमैक्स को चोरी कर लिया गया है। इसके बाद पुलिस ने उसे जेल भेज दिया। 

पहले भी दो बार गिरफ्तार कर चुकी है वैशाली पुलिस

महनार में अविनाश की गिरफ्तारी के पहले भी दो बार गिरफ्तार कर चुकी है। जुलाई 2016 में महुआ थाना के हरपुर सेंट्रल बैंक में डकैती के पहले ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था। सूचना पर पांच थानों की पुलिस ने इसे बैंक में ही साथियों के साथ गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद दिसंबर 2017 में बिदुपुर थाना क्षेत्र के कपूरा में रिटायर्ड शिक्षक सहदेव राय की हत्या के आरोप में भी अविनाश को गिरफ्तार किया गया था।

Find Us on Facebook

Trending News