अररिया के सेवानिवृत शिक्षक के बेटे ने किया यूपीएससी क्लियर, हासिल किया 505वां रैंक

 अररिया के सेवानिवृत शिक्षक के बेटे ने किया यूपीएससी क्लियर, हासिल किया 505वां रैंक

ARARIA : अररिया के फारबिसगंज के खवासपुर के रहने वाले सेवानिवृत्त शिक्षक श्यामलाल भगत के पुत्र कुमार शानू ने अपने दूसरे प्रयास में यूपीएससी की परीक्षा को क्वालीफाई किया और आल इंडिया सामान्य कोटी में 505वां रैंक लाया। इसकी इस उपलब्धि से घर पर माता-पिता को बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। पिता श्यामलाल भगत और मां मीरा देवी हर आने जाने वालों को मिठाई खिलाकर स्वागत कर रहे हैं। 

नवोदय से मैट्रिक और फिर आईआईटी से किया बीटेक

कुमार शानू की प्रारंभिक शिक्षा-दीक्षा पिता के देखरेख में गांव में होने के बाद वर्ग छह से दस तक की पढ़ाई अररिया जवाहर नवोदय विद्यालय से हुई और 2009 में मैट्रिक उत्तीर्ण होने के बाद 2011 में मिथिला पब्लिक स्कूल से 12 की परीक्षा उत्तीर्ण की।2012 में आईआईटी दिल्ली क्वालीफाई के बाद 2012-16 सत्र में बीटेक और 2017 में एमटेक पास किया।

बड़ा जॉब ऑफर छोड़ की यूपीएससी की तैयारी

दो भाइयों में सबसे बड़े कुमार शानू को बीटेक के बाद से ही जॉब का ऑफर मिला,लेकिन यूपीएससी को लक्ष्य बनाते हुए दिल्ली में ही रहकर तैयारी में जुट गए और आठ घण्टे तक प्रतिदिन सेल्फ स्टडी के बदौलत दूसरे प्रयास में लक्ष्य को हासिल किया।पहली बार मे पीटी निकलने के बाद मेंस में उनका रिजल्ट नहीं हो पाया था,बावजूद इसके हार न मानते हुए बिना कोचिंग किये सेल्फ स्टडी में लगे रहे।फलस्वरूप कामयाबी ने कदम चूमा।कुमार शानू का छोटा भाई आईआईटी दिल्ली से करने के बाद बंगलोर में एक निजी कम्पनी में जॉब में है।

Find Us on Facebook

Trending News