धारा 370: कांग्रेस के इस बड़े नेता ने दिया इस्तीफा, कहा कांग्रेस विनाश पर उतारू

धारा 370: कांग्रेस के इस बड़े नेता ने दिया इस्तीफा, कहा कांग्रेस विनाश पर उतारू

NEWS4NATION DESK : धारा 370 ने सिर्फ कश्मीर में ही हड़कंप नहीं मचाया और ना सिर्फ देश दुनिया में बल्कि धारा 370 पर बवाल मचाने वाले कांग्रेसमें भी भूचाल आ गया है। संसद के उच्च सदन में विपक्ष को उस समय जबरदस्त झटका लगा जब अमित शाह ने कश्मीर में लागू अनुच्छेद 370 का उन्मूलन करते हुए कश्मीर को दो भागों में विभाजित कर दिया। फिर क्या था कांग्रेस सहित उच्च दलों के नेता बवाल काटने लगे। ऐसा लगा मानव उनकी राजनीतिक मौत हो गई हो, लेकिन इसी बीच कांग्रेस के एक बड़े नेता ने कांग्रेसी नेतृत्व के नीति से खिन्न होकर इस्तीफा दिया और कहा कि पता नहीं क्यों कांग्रेश अपने विनाश पर क्यों उतारू है।

जी हां बता दें राज्यसभा में कांग्रेश के चीफ भुवनेश्वर कलिता ने कांग्रेस के रवैए से नाराज होकर इस्तीफा देते हुए कहा कि पार्टी अपने आप को खत्म करने के रास्ते पर चल पड़ी है। इतना ही नहीं इसके बाद समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सदस्य संजय सेठ ने भी तत्काल अपना त्यागपत्र दे दिया। 

राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने दोनों सदस्यों का इस्तीफा स्वीकार करने की घोषणा की। एक तरफ जहां गुलाम नबी आजाद से लेकर कपिल सिब्बल जैसे नेता अनुच्छेद 370 को समाप्त करने के कदम को एक बुनियादी भारी भूल बता रहे हैं तो दूसरी तरफ कांग्रेस के बड़े नेता ना सिर्फ कांग्रेसी नीतियों का विरोध कर रहे हैं, बल्कि सदस्यता से इस्तीफा तक दे दे रहे हैं

कांग्रेस में भूचाल

धारा 370 ने कांग्रेसमें भूचाल मचा कर रख दिया है साथ ही अन्य विपक्षी पार्टियों में भी दरारें साफ दिख रही है। अब जरा देखिए कि एक तरफ गुलाम नबी आजाद चिदंबरम जयराम रमेश कपिल सिब्बल अंबिका सोनी जैसे नेता धारा 370 पर जार जार रो रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस के बड़े नेता जनार्दन द्विवेदी, दीपेंद्र हुड्डा, मिलिंद देवड़ा, आदिति सिंह जैसे नेताओं ने भाजपा के इस कदम का पुरजोर स्वागत किया है।

जनार्दन द्विवेदी ने तो यहां तक कहा कि मैंने राम मनोहर लोहिया के नेतृत्व में राजनीति शुरू की थी। वह हमेशा इस अनुच्छेद के खिलाफ थे। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि मेरी एक चिंता जरूर है वह यह है कि  जम्मू कश्मीर को राज्य से केंद्रशासित प्रदेश बना दिया गया है। वही दीपेंद्र हुड्डा ने ट्वीट कर कहां है मेरी व्यक्तिगत राय रही है कि 21वीं सदी में अनुच्छेद 370 का उचित नहीं है और इसको हटना चाहिए।

Find Us on Facebook

Trending News