बड़ी खबर : पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का दिल्ली के AIIMS में निधन...

बड़ी खबर : पूर्व वित्त  मंत्री अरुण जेटली का दिल्ली के AIIMS में निधन...

News4Nation: पूर्व वित्त मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता अरुण जेटली (Arun Jaitley) का अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में निधन हो गया है. उन्हें कार्डिएक की शिकायत होने पर 9 अगस्त को  AIIMS भर्ती कराया गया था.  बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) भी जेटली से मिलने के लिए एम्स पहुंचे थे.


जेटली को किडनी से संबंधित समस्याओं और कुछ संक्रमणों का इलाज चल रहा था. हालांकि उन्होंने बीमारी की विस्तृत जानकारी नहीं दी थी. जेटली का सितंबर 2014 में बैरिएट्रिक ऑपरेशन हुआ था. लंबे समय से मधुमेह के कारण वजन बढ़ने की समस्या के निदान के लिए उन्होंने यह ऑपरेशन करवाया था. यह ऑपरेशन पहले मैक्स हॉस्पीटल में हुआ था पर बाद में कुछ दिक्कतें आने के कारण उन्हें एम्स स्थानांतरित किया गया था. कुछ साल पहले उनके दिल का भी ऑपरेशन हुआ था. 


मई 2019 में लोकसभा चुनाव में बीजेपी को मिली जीत के बाद  अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिख अपील की है कि उन्हें मंत्री बनाने पर विचार ना किया जाए. जेटली ने अपने खत में लिखा था कि पिछले 18 महीने से उनकी तबियत खराब है ऐसे में वह जिम्मेदारी को नहीं निभा पाएंगे. इसलिए उन्हें मंत्री बनाने पर कोई विचार ना करें. 


इस साल जनवरी में वह सर्जरी के लिये अमेरिका गए थे. उनके बायें पैर में सॉफ्ट टिश्यू कैंसर है. यही वजह रही कि वह मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के अंतरिम बजट में पेश नहीं कर पाए. उनकी जगह रेलवे और कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने बजट पेश किया. 


अरुण जेटली साल 2000 से राज्यसभा के सांसद हैं. पिछले साल मार्च में उन्हें उत्तर प्रदेश से फिर से राज्यसभा का सांसद चुना गया है. अरुण जेटली का 14 मई 2018 को किडनी ट्रांसप्लांट संबंधी आपरेशन किया गया. वह करीब 100 दिन तक वित्त मंत्रालय से बाहर रहे. इस दौरान रेल, कोयला मंत्री पीयूष गोयल को वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार दिया गया. 23 अगस्त 2018 को वह वित्त मंत्री के रूप में वापस काम पर लौटे.

Find Us on Facebook

Trending News