सत्ता में आते ही कांग्रेस ने अपने बदले तेवर, नए सदस्यों के लिए तय किए तीन नियम

सत्ता में आते ही कांग्रेस ने अपने बदले तेवर, नए सदस्यों के लिए तय किए तीन नियम

News4nation desk : लंबे समय के बाद झारखंड में कांग्रेस को सत्ता में शामिल होने का मौका मिला है। सत्ता में भागीदारी मिलते ही कांग्रेस अब प्रदेश में अपनी पकड़ मजबूत बनाने की कवायद में जुट गई है। इसी कड़ी में झारखंडकांग्रेस का सदस्यता अभियान बुधवार से शुरू हो गया। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव ने पार्टी का सदस्य बन कर इसकी शुरुआत की। कांग्रेस ने 15 लाख सदस्य बनाने का लक्ष्य तय किया है। 

पहले दिन कई दिग्गज खिलाड़ी पार्टी के बने सदस्य

सदस्यता अभियान  के पहले दिन ही प्रदेश के कई दिग्गज खिलाड़ी कांग्रेस की सदस्या ग्रहण की। कांग्रेस के सदस्यता अभियान प्रभारी आलोक कुमार दूबे ने पूर्व हॉकी खिलाड़ी विमल लकड़ा, अंसुता लकड़ा और पूर्व क्रिकेटर देवेश चंद्र और निशांत राजा को कांग्रेस की सदस्यता दिलायी।

सदस्यता ग्रहण समारोह में मंत्री आलमगीर आलम, बादल, बन्ना गुप्ता, सांसद गीता कोड़ा, विधायक इरफान अंसारी, ममता देवी, पूर्णिमा नीरज सिंह, अंबा प्रसाद, भूषण बाड़ा, नमन विक्सन कोंगाड़ी, कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर, केशव महतो कमलेश समेत अन्य मौजूद थे।

नये सदस्यों के तय किये गये तीन नियम

वहीं राजधानी के पंचवटी प्लाजा के सामने सदस्यता अभियान की शुरुआत के बाद कांग्रेस भवन में सभी जिलाध्यक्षों की बैठक हुई। प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने नए सदस्यों के लिए तीन नियम तय किए हैं। जिनमें पहला नियम दूसरे राजनीतिक दल से कांग्रेस में आने पर दो साल तक किसी पद का हकदार नहीं होना, दूसरा-विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी छोड़कर गए नेता को छह साल तक पार्टी में शामिल नहीं किया जाना और तीसरा-तीन साल तक चुनाव की दावेदारी, किसी को पार्टी में शामिल किये जाने से पहले कमेटि की अनुमति लेना जरुरी तय किया गया। यह प्रस्ताव प्रदेश कांग्रेस अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी को भेजेगी।

रांची से कुंदन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News