अब नहीं खुलता है अस्पताल का यह गेट, स्टाफ दूसरी जगह लगाते हैं हाजिरी, मरीज झोलाछाप डॉक्टरों के भरोसे

अब नहीं खुलता है अस्पताल का यह गेट, स्टाफ दूसरी जगह लगाते हैं हाजिरी, मरीज झोलाछाप डॉक्टरों के भरोसे

जमुई। भले ही बिहार सरकार स्वास्थ्य विभाग में सुधार के लाख दावे कर ले लेकिन जो जमीनी हकीकत बरहट प्रखंड के कटौना ग्राम पंचायत में सामने आयी है उसने सरकार के सारे दावों की पोल खोलकर रख दी है। 

कटौना ग्राम पंचायत में ग्रामीणों के स्वास्थ्य की देखरेख के लिये एक अतिरिक्त स्वास्थ्य प्राथमिक केंद्र की स्थापना तो की गई लेकिन आलम ये है कि विगत कई वर्षों से पंचायत के जनप्रतिनिधियों की मिलीभगत से इस अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में ताला लटका पड़ा है और ग्रामीणों को अपनी जेब ढीली कर किसी भी बीमारी का इलाज पंचायत के झोला छाप डॉक्टरों के यहां कराना पड़ता है। कटौना ग्राम पंचायत में ग्रामीणों का इलाज करने वाले झोला छाप डॉक्टर कोई और नहीं बल्कि इसी पंचायत के जनप्रतिनिधि भी हैं।

नर्सिंग स्टाफ की भी है तैनाती, पर...

कटौना के अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में दो चतुर्थ वर्गीय कर्मचारी और चार एएनएम कार्यरत हैं। अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बंद रहने से चतुर्थ वर्गीय कर्मचारी सुरेंद्र प्रसाद को हर दिन पैदल उपस्थिति बनाने मलयपुर जाना पड़ता है। सुरेन्द्र प्रसाद ने बताया कि कई वर्षों से यहां ताला लटका है जिस कारण यहां किसी मरीज का इलाज नहीं होता।

सीएस तक गुहार लगा चुके हैं यहां के ग्रामीण

अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बंद रहने के कारण ग्रामीणों के बीच आक्रोश व्याप्त है। पूर्व जिला परिषद सदस्य अरविंद कुमार राव उर्फ टुनटुन रावत ने कहा कि इस संबंध में कई बार जमुई के सिविल सर्जन डॉ विजयेंद्र सत्यार्थी से लेकर मलयपुर के प्रभारी चिकित्सा प्रभारी डॉ एन.के.मंडल से शिकायत की गई लेकिन उनकी ओर से अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। उन्होनें कहा कि पंचायत के जनप्रतिनिधि और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत के कारण अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का ताला नहीं खुलता कारण कि उस जनप्रतिनिधि का खुद का निजी क्लीनिक चलता है और मरीजों की जेब ढीली कर उनका इलाज किया जाता है। उन्होनें कहा कि अगर जल्द नियमित रूप से अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज प्रारम्भ नहीं होता है तो गांव की जनता इसको लेकर चरणबद्ध आंदोलन चलाया जाएगा।

इस बाबत पूछे जाने पर मलयपुर के प्रभारी चिकित्सा प्रभारी डॉ एन.के. मंडल ने इस बात से इनकार किया और कहा कि चूंकि एएनएम को पल्स पोलियो के टीका अभियान में लगाया है इसलिए कभी-कभी अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य नहीं खुल पाता है।

Find Us on Facebook

Trending News