जेल की सजा काटने के बाद भी घर नहीं लौटा कैदी, इलाज के दौरान अस्पताल में हुई मौत

जेल की सजा काटने के बाद भी घर नहीं लौटा कैदी, इलाज के दौरान अस्पताल में हुई मौत

BHAGALPUR : भागलपुर के मायागंज में इलाजरत पूर्णिया सेंट्रल जेल के बंदी बांग्लादेश के मल्लिकपुर निवासी मोहम्मद तौफीक की मौत हो गई. बंदी की मौत के बाद मजिस्ट्रेट के समक्ष उसकी मृत्यु समीक्षा रिपोर्ट तैयार की गई. मजिस्ट्रेट की तैनाती के लिए पूर्णिया सेंट्रल जेल के अधीक्षक ने भागलपुर डीएम और एसडीएम को पत्र लिखा था. 

जिसमें पूर्णिया सेंट्रल जेल के अधीक्षक ने लिखा है कि बांग्लादेश के रहने वाले बंदी मोहम्मद तौफीक को पूर्णिया के नगर थाना में दर्ज हुए केस में कोर्ट ने 13 जनवरी 2010 को जेल भेजा था. जनवरी 2013 में उसे 3 साल की सश्रम कारावास की सजा और 3 रुपए अर्थदंड लगाया गया था. अर्थदंड नहीं देने पर 3 माह की अतिरिक्त सजा भुगतनी थी. सजा पूरी होने के बाद उस विदेशी बंदी की वापसी सितंबर 2017 में होनी थी. 

लेकिन  उसे कोई वापस ले जाने वाला नहीं आया. उसकी तबीयत 24 नवंबर 2020 को बिगड़ गई, जिसके बाद उसे पूर्णिया अस्पताल इलाज के लिए भेजा गया. जहां से डॉक्टरों ने उसे बेहतर इलाज के लिए भागलपुर के मायागंज अस्पताल रेफर कर दिया था. जहाँ इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई. पुलिस मृतक कैदी का कोरोना जांच कराकर शव पूर्णिया प्रशासन को सौंप दिया गया है.

भागलपुर से अंजनी कुमार कश्यप की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News