असम एनआरसी की अंतिम सूची जारी, 19 लाख से ज्यादा लोग लिस्ट में शामिल नहीं

असम एनआरसी की अंतिम सूची जारी, 19 लाख  से ज्यादा लोग लिस्ट में शामिल नहीं

NEWS4NATION DESK : पूर्वोत्तरराज्य असम में आज एनआरसी की अंतिम सूची जारी कर दी गई। गृह मंत्रालय ने यह सूची जारी की है।एनआरसी के राज्य समन्वयक प्रतीक हजेला (NRC state Coordinator) ने बताया कि कुल 3,11,21,004  व्यक्तियों को अंतिम सूची में शामिल करने के योग्य पाया गया। इसके अलावा 19,06,657 व्यक्ति लिस्ट में शामिल नहीं हो सके हैं। इन लोगों ने अपने दावे प्रस्तुत नहीं किए थे। परिणाम से संतुष्ट नहीं होने पर वे विदेशी ट्रिब्यूनल के समक्ष अपील दायर कर सकते हैं।

सूची जारी होने के बाद लोगों में भय का माहौल देखते हुए पूरे राज्य को हाई अलर्ट पर रखा गया है, लेकिन लोगों को डरने की जरूरत नहीं है। केंद्र सरकार ने पहले ही साफ कर दिया है कि जो लोग अपनी नागरिकता खो देंगे उन्हें डिटेंशन सेंटर नहीं भेजा जाएगा।

बता दें एनआरसी(NRC) असम में अधिवासित सभी नागरिकों की एक सूची है। वर्तमान में राज्य के भीतर बोनाफाइड नागरिकों को बनाए रखने और बांग्लादेश से अवैध रूप से प्रवासियों को बाहर निकालने के लिए इसका अद्यतन किया जा रहा है।

साल 1951 के बाद पहली बार राज्य में नागरिकता की पहचान हो रही है। राज्य में बड़ी संख्या में अवैध तरीके से रह रहे लोग इसकी प्रमुख वजह है। इसकी अंतिम सूची सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में बन रही है। इससे पहले साल 2018 में आई एनआरसी लिस्ट में 3.29 करोड़ लोगों में से 40.37 लाख लोगों का नाम शामिल नहीं था। अब फाइनल एनआरसी में उन लोगों के नाम शामिल किए जाएंगे, जो 24 मार्च 1971 से पहले असम के नागरिक हैं या उनके पूर्वज राज्य में रहते आए हैं।

असम में अवैध प्रवासियों को राज्य से हटाने के लिए 2010 में एनआरसी को अपडेट करने की शुरुआत बारपेटा और कामरूप जिले से शुरू हुई थी। सर्वोच्च न्यायालय ने 2014 में राज्य को एनआरसी अपडेट करने की प्रक्रिया पूरी करने का आदेश दिया था। 2015 में शीर्ष अदालत की निगरानी में इसका काम फिर शुरू हुआ था।


Find Us on Facebook

Trending News