विधानसभा उपचुनाव : डिप्टी CM तेजस्वी को उनकी अपनी ही मामी ने दी चुनौती, RJD प्रत्याशी के खिलाफ गोपालगंज सीट से दाखिल किया नामांकन

विधानसभा उपचुनाव : डिप्टी CM तेजस्वी को उनकी अपनी ही मामी ने दी चुनौती, RJD प्रत्याशी के खिलाफ गोपालगंज सीट से दाखिल किया नामांकन

गोपालगंज. बिहार में दो सीटों पर विधानसभा का उपचुनाव हो रहा है। इसको लेकर भाजपा और महागठबंधन के दलों ने प्रत्याशियों का ऐलान कर दिया है। अब गोपालगंज सीट पर डिप्टी सीएम तेजस्वी की मामी ने भी चुनाव लड़ने का फैसला कर लिया। उन्होंने बसपा के टिकट पर आज नामांकन दाखिल किया है। ऐसे में लालू यादव की पार्टी राजद के उम्मीदवार को लालू यादव के ही करीबी से चुनौती मिल रही है।

बिहार के विधानसभा उपचुनाव में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव को अपनों से ही चुनौती मिल रही है। बुधवार को गोपालगंज सीट से उपचुनाव के लिए पूर्व सांसद अनिरुद्ध प्रसाद उर्फ साधु यादव की पत्नी इंदिरा यादव ने बसपा (बहुजन समाज पार्टी) से नामांकन किया। इंदिरा यादव राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की सरहज हैं और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव की मामी इंदिरा यादव ने नामांकन के बाद लालू प्रसाद और राबड़ी देवी पर एक बयान देकर भाजपा और महागठबंधन प्रत्याशियों के समीकरण को बदल दिया है।

इंदिरा यादव ने कहा कि गोपालगंज में विकास चुनाव का मुद्दा होगा और नामांकन करने के बाद बड़े जीजी जी और दीदी से आशीर्वाद लेंगी। यानी इंदिरा देवी ने अपने जीजा राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और पूर्व सीएम राबड़ी देवी से आशीर्वाद मांगा हैं। उनसे जब पूछा गया कि ‘मामी का आशीर्वाद भांजा तेजस्वी यादव पर होगा या नही तो उन्होंने कहा कि ये बाद की बात है।

अब गोपलगांज सीट पर भी उम्मीदवार का ऐलान हो गया है। राजद के मोहन कुमार गुप्ता को टिकट मिला है। इस तरह से राजद ने कांग्रेस से गोपालगंज विधानसभा की सीट छीन ली है। 2020 के विधानसभा चुनाव में महागठबंधन की तरफ से गोपालगंज विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी आसिफ गफ्फूर चुनावी मैदान में उतरे थे। लेकिन इस बार उपचुनाव में राजद ने कांग्रेस को बड़ा झटका दिया है।

गोपालगंज और मोकामा विधानसभा सीट पर नामांकन की प्रक्रिया जारी है, वोटिंग 3 नवंबर को होगी। मिली जानकारी के अनुसार गोपालगंज सीट पर नीतीश कुमार की जदयू, हम और वाम दल ने पहले ही राजद को सीट देने की सहमति जता दी थी। इसके बाद कांग्रेस को भी समर्थन करना पड़ा। अब दोनों सीटों पर राजद का सीधा मुकाबला बीजेपी से होगा। मोकामा सीट जहां आरजेडी का गढ़ मानी जाती है। वहीं, गोपालगंज सदर सीट पर बीजेपी की अच्छी पकड़ है। भाजपा के दिवंगत विधायक सुबाष सिंह यहां से लगातार चार बार बीजेपी के टिकट पर चुनाव जीते हैं। 

गोपालगंज सदर सीट पूर्व मंत्री और बीजेपी नेता सबाष सिंह के निधन के बाद खाली हुई थी। पिछले कुछ दशकों के चुनाव पर नजर डालें तो गोपालगंज में अक्सर मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस के बीच ही रहा है। पिछले दिनों उपचुनाव की घोषणा के बाद कयास लगाए जा रहा था कि महागठबंधन में गोपालगंज सीट से कांग्रेस का उम्मीदवार उतारा जा सकता है। हालांकि अब कांग्रेस का पत्ता कट गया है। यहां से राजद के उम्मीदवार मोहन कुमार गुप्ता को टिकट दिया गया है।

Find Us on Facebook

Trending News