तेजप्रताप के पहुंचते ही शिवानंद तिवारी को छोड़नी पड़ी कुर्सी, राबड़ी को प्रणाम कर बगल में बैठे लालू के बड़े लाल

तेजप्रताप के पहुंचते ही शिवानंद तिवारी को छोड़नी पड़ी कुर्सी, राबड़ी  को प्रणाम कर बगल में बैठे लालू के बड़े लाल

PATNA : देर से ही सही लालू के बड़े लाल तेजप्रताप अपनी मां का साथ देने के लिए पार्टी कार्यालय में चल रहे स्थापना दिवस कार्यक्रम में पहुंच गए। तेजप्रताप के पहुंचते ही पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी को अपनी कुर्सी छोड़नी पड़ी।  

कार्यक्रम में पहुंचने के बाद सबसे पहले तेजप्रताप ने अपनी मां राबड़ी के पांव छूकर उनका आशीर्वाद लिया और फिर उनकी बगल में शिवानंद तिवारी द्वारा खाली की गई कुर्सी पर आसीन हुए। 

दरअसल स्थापना दिवस कार्यक्रम में  राबड़ी देवी के अगल- बगल उनके दोनों बेटों तेजस्वी और तेजप्रताप के लिए कुर्सी लगाई गई थी, लेकिन कार्यक्रम की शुरुआत में दोनों के नहीं पहुंचने के बाद तेजप्रताप की कुर्सी पर शिवानंद तिवारी बैठे थे। लेकिन जैसे ही तेजप्रताप के आने की सूचना मिली उन्हें कुर्सी से उठा दिया गया और फिर तेजप्रताप को उस कुर्सी पर बैठाया गया। हालांकि उसके बाद राबडी़ के दूसरी ओर से तेजस्वी के लिए जो कुर्सी लगी थी उसपर शिवानंद तिवारी को बैठाया गया। 

बता दें कि राजद आज पहली बार पार्टी सुप्रीमो लालू यादव की अनुपस्थिति में अपना 23वां स्थापना दिवस मना रहा है। इसे लेकर पार्टी प्रदेश कार्यालय में कार्यक्रम का आयोजित किया गया है।   

विवेकानंद की रिपोर्ट


Find Us on Facebook

Trending News