पटना में खनन विभाग की टीम पर हमला, बालू लदे वाहनों की जांच के दौरान माफिय़ाओं ने जमकर पीटा

पटना में खनन विभाग की टीम पर हमला, बालू लदे वाहनों की जांच के दौरान माफिय़ाओं ने जमकर पीटा

PATNA : बालू माफियाओं ने एकबार फिर खनन विभाग की टीम पर बड़ा हमला बोला है। पटना के दीदारगंज थाना क्षेत्र के महुली गांव में रविवार को बालू लदे वाहनों की जांच कर रही खनन विभाग की टीम पर बालू माफियाओं ने हमला बोल दिया। इस दौरान खनिज विकास पदाधिकारी और जवानों को माफियाओं ने जमकर पिटाई की। सभी को इलाज के लिए एनएमसीएच में भर्ती कराया गया है। 

खनिज विकास अधिकारी राजेश सिंह कुशवाहा ने बताया कि वे टीम के साथ रविवार की दोपहर फोरलेन पर बालू लदे वाहनों की जांच कर रहे थे। इस दौरान दोपहर करीब ढाई बजे सफेद बालू लदा हाईवा गुजर रहा था। जिसके चालक को गाड़ी रोकने के लिए कहा गया, लेकिन चालक ने गति तेज कर दी और हाइवा को लेकर महुली गांव की ओर जाने लगा। इसके बाद हाइवा का पीछा किया गया। 

महुली गांव से कुछ दूर आगे हाइवा एक निर्माणाधीन परिसर में घुस गया। जिसका पीछा करते हुए खनिज विकास पदाधिकारी वहां पहुंच गए। परिसर में पहले से एक दर्जन से अधिक मजदूर और अन्य लोग मौजूद थे। गाड़ी का कागजात और चलान दिखाने के सवाल पर बालू माफिया और खनन पदाधिकारी के बीच तनातनी होने लगी। इस बीच बालू माफियाओं ने डंडे से उनकी पिटाई शुरू कर दी। 

घटना में आरक्षी वासुदेव यादव, मो. शमीम और चालक विनोद कुमार सिंह भी जख्मी हो गए। हो हल्ला सुनकर ग्रामीण जुट गए और सभी को गाड़ी पर सवार कर परिसर से बाहर निकाला। इसके बाद सभी एनएमसीएच पहुंचे और इलाज कराया। 

घटना की जानकारी मिलते ही खनन विभाग के सहायक निदेशक सुरेन्द्र प्रसाद सिन्हा अस्पताल पहुंचे और घायलों का हाल जाना। उन्होंने कहा कि बालू माफियाओं के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। 

Find Us on Facebook

Trending News