औरंगाबाद सांसद ने लोकसभा में उठाया बिहटा-औरंगाबाद रेल लाइन का मुद्दा, कहा परियोजना को जल्द पूरा करें सरकार

औरंगाबाद सांसद ने लोकसभा में उठाया बिहटा-औरंगाबाद रेल लाइन का मुद्दा, कहा परियोजना को जल्द पूरा करें सरकार

AURANGABAD : औरंगाबाद सांसद सुशील कुमार सिंह लोकसभा में महत्वपूर्ण और बहुप्रतीक्षित परियोजना बिहटा-औरंगाबाद रेलवे लाइन को पुरा करने की मांग की है। सांसद ने अपने संबोधन में कहा कि पूर्व मध्य रेल के अंतर्गत वर्ष 2007 में 326 करोड़ रूपए की लागत से बिहटा-औरंगाबाद नई रेल परियोजना की स्वीकृति प्रदान की गई।


उन्होंने कहा की इस परियोजना का कार्य 2011-12 में पूरा किया जाना था। परियोजना से पटना,अरवल,जहानाबाद एवं औरंगाबाद की जनता लाभान्वित होगी। इस क्षेत्र का अधिकांश भाग अति पिछड़ा और एल.डब्ल्यू.ई.के अधीन है। उन्होंने कहा की परियोजना के लिए कई बार सर्वेक्षण हुआ और किसानों को भूमि अधिग्रहण के लिए नोटिस भी जारी किया गया। अब परियोजना की प्राक्कलन राशि 326 करोड़ रूपये से बढ़कर 2800 करोड़ रूपए हो गया है। 

सुशील कुमार सिंह ने कहा की अधिकारियों की उदासीनता के कारण प्राक्कलन राशि में काफी वृद्धि हो गई है और इस पिछड़े क्षेत्र की जनता को विकास योजना से वंचित करने का कार्य किया गया। 

उन्होंने कहा की मेरा आग्रह है कि बिहटा-औरंगाबाद रेल परियोजना का कार्य शीघ्र पूरा कराने हेतु तत्काल कदम उठाया जाए। गया-औरंगाबाद झारखंड राज्य के चतरा, हजारीबाग आदि उग्रवाद प्रभावित जिलों से सटे है। वर्षों से स्थानीय लोगों की मांग है कि उग्रवाद प्रभावित इस क्षेत्र में गया, शेरघाटी, बाँके बाजार, इमामगंज, डुमरिया होते हुए झारखंड में डालटेनगंज को रेल सेवा से जोड़ा जाए। रेल सेवा का यह विस्तार बेहतर स्थानीय संपर्क के साथ उग्रवाद नियंत्रण में उपयोगी होगा।

औरंगाबाद से दीनानाथ मौआर की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News