प्रामाणिक जांच से संभव है जटिल से जटिल रोगों का इलाज : डॉ. प्रभात रंजन

प्रामाणिक जांच से संभव है जटिल से जटिल रोगों का इलाज : डॉ. प्रभात रंजन

BETTIYA : पश्चिम चंपारण के जिला मुख्यालय बेतिया में एसोसिएशन ऑफ फिजीशियन बिहार चैप्टर के वार्षिक सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम के पहले दिन राज्य के ख्याति प्राप्त चिकित्सकों ने हिस्सा लिया और अपने विचार व्यक्त किये। 

कार्यशाला में पटना से आए हुए ख्याति प्राप्त वरीय पैथोलॉजिस्ट डॉ. प्रभात रंजन ने बताया कि चिकित्सा जगत में आधुनिक चिकित्सा पद्धति द्वारा जटिल से जटिल बीमारियों का समय पर प्रामाणिक जांच द्वारा इलाज अपने बिहार में ही संभव है। 

डॉ. प्रभात रंजन ने कहा कि फेफड़े की बीमारी से हर साल पूरी दुनिया में लाखों लोगों की मौत होती है। फेफड़े के जटिल रोगों का इलाज मुश्किल नहीं है अगर समय रहते इसके लक्षणों का सही जांच हो जाए। उन्होंने कहा कि हमारे बिहार में प्रामाणिक जांच केंद्रो का घोर अभाव है और इन जटिल बीमारियों के इलाज के लिए पटना कंकड़बाग स्थित डॉ प्रभात रंजन डायग्नोस्टिक रिसर्च सेंटर एवं डॉ मधुकर क्लीनिक में अत्याधुनिक चिकित्सा पद्धति द्वारा इलाज संभव है।

वही कार्यक्रम में शामिल वरिष्ठ चेस्ट रोग विशेषज्ञ डॉ. सुजीत कुमार मधुकर ने बताया कि बॉयोसपी के द्वारा गले से लेकर फेफड़े के विभिन्न भागों का परीक्षण कर सांस के रोगों का सही आकलन किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि गले के कैंसर के इलाज  के लिए बिहार से बाहर जाने की कोई आवश्यकता नहीं है। 

वहीं वरीय रेडियोलॉजिस्ट डॉक्टर अमर कुमार सिंह ने बताया कि सीटी स्कैन के द्वारा गले से लेकर फेवरेट तक विभिन्न भागों को सीधा देखा जा सकता है जांच परीक्षण के उपरांत जटिल रोगों पर विजय हासिल किया जा सकता है। 

Find Us on Facebook

Trending News