अनहोनी से बचाव : एनडीआरएफ बिहटा की 04 टीमें देवघर और बासुकीनाथ धाम में तैनात

अनहोनी से बचाव : एनडीआरएफ बिहटा की 04 टीमें देवघर और बासुकीनाथ धाम में तैनात

PATNA : श्रावणी मेला 2019 के सफल संचालन और कांवरियों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए झारखण्ड राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के माँग पर 9 बटालियन एनडीआरएफ बिहटा (पटना) की 04 टीमों को पिछले महीने देवघर और बासुकीनाथ धाम में तैनाती किया गया है. बैद्यनाथ धाम देवघर में अरविन्द मिश्रा, असिस्टेंट कमान्डेंट के नेतृत्व में एनडीआरएफ की दो टीमें तैनात की गयी है. 

जबकि बासुकीनाथ धाम (दुमका) में टीम कमाण्डर राजेश कुमार और ओम प्रकाश गोस्वामी के नेतृत्व दो अन्य टीमें दिन-रात अपनी ड्यूटी पर मुस्तैदी से तैनात है. ये टीमें जिला प्रशासन से समन्वय स्थापित कर श्रद्धालुओं को हर सम्भव मदद करने के लिए तत्पर है. देवघर में निरीक्षक पीटर पॉल डुंगडुंग और निरीक्षक बिरेन्द्र राठौर को एनडीआरएफ टीम कमाण्डर के तौर पर प्रतिनियुक्त किया गया है.

देवघर स्थित शिवगंगा तालाब और नन्दन पहाड़ तालाब में साथ ही बासुकीनाथ धाम में स्थित शिवगंगा तालाब में एनडीआरएफ के बचावकर्मी तत्परता के साथ लगातार रेस्क्यू बोट से पेट्रोलिंग करके स्नान करने वाले श्रद्धालुओं पर नज़र बनाये रहते है ताकि जरूरत पड़ने पर श्रद्धालुओं को हर संभव मदद किया जा सके. साथ ही किसी भी तरह के अनहोनी की घटना को रोका जा सके. एनडीआरएफ के बचावकर्मी स्नान करने वाले लोगों को निर्देशित भी करते रहते हैं कि वे पानी में ज्यादा गहराई की ओर न जाएँ, वहाँ डूबने का खतरा हो सकता हैं.

9 बटालियन एनडीआरएफ के कमान्डेंट विजय सिन्हा ने बताया कि शिवगंगा और नन्दन पहाड़ तालाब में रेस्क्यू बोट ड्यूटी के साथ-साथ हमारे बचावकर्मी मन्दिर परिसर में भी अन्य एजेन्सियों के साथ तैनात हैं. एन०डी०आर०एफ० की मेडिकल टीमें देवघर और बासुकीनाथ धाम में अलग-अलग जगहों पर मेडिकल कैम्प स्थापित कर जरुरतमंद श्रद्धालुओं को लगातार चिकित्सा सुविधा भी मुहैया कर रही है. श्रावणी मेला के दौरान अब तक एनडीआरएफ की मेडिकल टीम 3400 से अधिक लोगों को चिकित्सा सुविधा मुहैया कर चुकी है.

पटना से कुंदन की रिपोर्ट



Find Us on Facebook

Trending News