गया ओटीए में अवॉर्ड सेरेमनी का हुआ आयोजन, प्रशिक्षण में बेहतर प्रदर्शन करनेवाले जेंटलमैन को किया गया सम्मानित

गया ओटीए में अवॉर्ड सेरेमनी का हुआ आयोजन, प्रशिक्षण में बेहतर प्रदर्शन करनेवाले जेंटलमैन को किया गया सम्मानित

GAYA : जिले के गया-बोधगया मुख्य सड़क मार्ग पर पहाड़पुर गांव के समीप स्थित ऑफिसर्स ट्रेंनिंग अकेडमी (ओटीए) के विजय ऑडिटोरियम में अवॉर्ड सेरेमनी समारोह का आयोजन किया गया. इस अवॉर्ड सेरिमनी समारोह में एक साल प्रशिक्षण के दौरान उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले जेंटलमैन कैडेट्स को पुरस्कृत किया गया. ओटीए में 21वीं पासिंग आउट परेड 11 जून को आयोजित होने वाली है. इस पासिंग आउट परेड में 64 जेंटलमैन कैडेट्स भारतीय सेना में कमीशन प्राप्त करेंगे. प्रशिक्षण के दौरान उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले जेंटलमैन कैडेट्स को ओटीए के कमांडेंट लेफ्टिनेंट जनरल पीएस मन्हास के द्वारा सम्मानित किया गया. वहीं ऑफिसर्स प्रशिक्षण अकादमी में 21वीं पासिंग आउट परेड 11 जून को आयोजित है. इस भव्य पासिंग आउट परेड समारोह के मुख्य आकर्षण पुरस्कार वितरण समारोह, वार मेमोरियल सर्विस, मल्टी एक्टिविटी डिस्पले ,परेड एवं पिपिंग सेरेमनी है. मल्टी एक्टिविटी डिस्प्ले के तहत कई आकर्षक कार्यक्रम जिसमें जिम्नास्टिक्स, पीटी डिस्प्ले, डॉग शो, घुड़सवारी, कलाबाजी माइक्रोलाइट फ्लाइंग, डिस्प्ले, बैंड डिस्प्ले एवं आतिशबाजी कार्यक्रमों की प्रस्तुति की जाएगी.

इस मौके पर ओटीए के कमांडेंट लेफ्टिनेंट जनरल पी.एस मन्हास ने कहा कि इस बार की होने वाली पासिंग आउट परेड में कुल 64 जेंटलमैन कैडेट्स पास आउट होंगे. जो भारतीय सैन्य संस्थानों में स्पेशल ट्रेनिंग के लिए जाएंगे. उन्होंने कहा कि इसमें 5 दूसरे देशों के कैडेट्स एवं बिहार के 5 जैंटलमैन कैडेट शामिल है. जो पास आउट होंगे. गया ओटीए में प्रशिक्षण देकर जेंटलमैन कैडेट्स को एक बेहतर अधिकारी बनाया जाता है. यहां से पास आउट होने वाले कैडेट्स अपने चॉइस के अनुसार देश के सिकंदराबाद, मऊ और पुणे जैसे बड़े सैन्य संस्थानों में प्रशिक्षण के लिए जाएंगे और देश के बड़े सैन्य अधिकारी बनेंगे. इसके लिए यहां बेहतर तरीके से प्रशिक्षण दिया जाता है. 

उन्होंने कहा कि स्पेशल सर्विस कमीशन एवं टेक्निकल एंट्री स्कीम के तहत ये जेंटलमैन कैडेट्स विशेष प्रशिक्षण के लिए देश के विभिन्न संस्थानों में जाएंगे. इसके लिए हम इन्हें धन्यवाद देते हैं. स्पेशल सर्विस कमिशन में शामिल होने वाले जेंटलमैन कैडेट्स जल, थल और वायु सेना में अपने प्रशिक्षण के अनुरूप शामिल होते हैं.जो बेहतर प्रशिक्षण मिलने के बाद एक काबिल अफसर के रूप में विभिन्न संस्थानों में तैनात होंगे और देश को अपनी सेवा देंगे. गया ओटीए अपने शुरुआत काल से ही दिन-प्रतिदिन नए आयाम हासिल कर रहा है. धीरे-धीरे यहां की व्यवस्था अच्छी हो रही है. क्रेडिट को बेहतर से बेहतर प्रशिक्षण दिया जा रहा है. दिनोंदिन गया ओटीए का नाम और भी बेहतर हो रहा है.

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News