तारीख पर तारीख के तिलिस्म में 'राम मंदिर', सुप्रीम कोर्ट में 26 फरवरी को अयोध्या केस की सुनवाई

तारीख पर तारीख के तिलिस्म में 'राम मंदिर', सुप्रीम कोर्ट में 26 फरवरी को अयोध्या केस की सुनवाई

NEW DELHI : अयोध्या राम मंदिर मामला तारीख पर तारीख के तिलिस्म में फंसा हुआ है। अब अयोध्या विवाद में नई तारीख आ गई है। अयोध्या विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट में 26 फरवरी को सुनवाई होगी। सुप्रीम कोर्ट के 5 जजों की संवैधानिक बेंच मामले की सुनवाई करेगी। इससे पहले शीर्ष अदालत ने 29 जनवरी को होने वाली सुनवाई टाल दी थी। सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई टलने पर हिंदू संगठनों और साधु-संतों ने काफी विरोध किया था।

5 जजों की संवैधानिक बेंच करेगी सुनवाई

 जस्टिस यू. यू. ललित के मामले की सुनवाई से खुद को अलग करने के बाद नए बेंच का गठन किया गया है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस एस ए बोबडे, जस्टिस , जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस अब्दुल नजीर की संवैधानिक बेंच करेगी मुख्य जमीन मामले की सुनवाई। 27 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट के अडिशनल रजिस्ट्रार लिस्टिंग की ओर से जारी नोटिस के मुताबिक संवैधानिक बेंच में शामिल जस्टिस एस. ए. बोबडे के मौजूद नहीं होने के कारण 29 जनवरी की सुनवाई नहीं हो पाई थी।

तारीख पर तारीख

बता दें कि पांच जजों की संविधान पीठ में शामिल जस्टिस बोबडे जनवरी से छुट्टी पर थे और उसी वजह से 29 जनवरी को होने वाली सुनवाई नहीं हो पाई थी। जनवरी में चीफ जस्टिस ने मामले की सुनवाई के लिए नई बेंच का गठन किया था। इससे पहले 10 जनवरी को हुई सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्षकारों के वकील राजीव धवन की ओर से आपत्ति जताये जाने के बाद जस्टिस यू यू ललित ने खुद को इस केस से अलग कर लिया था।

Find Us on Facebook

Trending News