बाबा साहब अंबेडकर की 65वीं महापरिनिर्वाण दिवस, रामकृपाल यादव बोले- कांग्रेस ने हमेशा किया अपमान

बाबा साहब अंबेडकर की 65वीं महापरिनिर्वाण दिवस, रामकृपाल यादव बोले- कांग्रेस ने हमेशा किया अपमान

पटना. भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा पटना के ग्रामीण अध्यक्ष सतीश पासवान की अध्यक्षता में दानापुर के रुकुनपुरा में संविधान निर्माता भारत रत्न बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की 65वीं महापरिनिर्वाण दिवस मनाया गया. इसमें बाबा साहब के चित्र पर पुष्पंजीलि अर्पित किया गया. इसमें पूर्व केन्द्रीय मंत्री और सांसद रामकृपाल यादव भी मौजूद रहे.

सभा को संबोधित करते हुए पूर्व केन्द्रीय राम कृपाल यादव ने कहा कि आजादी के बाद कांग्रेस ने नेहरू और इंदिरा गांधी को भारत रत्न दिया, लेकिन डॉ. अम्बेडकर को नहीं दिया. कांग्रेस बाबा साहेब को सदा अपमानित करती रही.

रामकृपाल यादव ने कहा कि आम्बेडकर ने कहा था छुआछूत गुलामी से भी बदतर है. आज देश सामाजिक छुआछूत से लगभग मुक्त हो गया है, लेकिन समाज के लिए आर्थिक छुआछूत एक नई समस्या बनकर उभर रही है. सांसद ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने बाबा साहेब से जुड़े पांच प्रमुख स्थानों को पंच तीर्थ के रूप में घोषित किया.

मध्य प्रदेश के मऊ में जन्म भूमि, लंदन में शिक्षा भूमि, नागपुर में दीक्षा भूमि, मुम्बई में चैत्य भूमि और दिल्ली में नेशनल मेमोरियल के रूप में महापरिनिर्वाण भूमि के रूप में विकास किया, ताकि वहा आने वाली पीढ़ियों को सदा बाबा साहेब के आदर्शों का मार्ग निर्देशन मिलता रहे. वहीं पूर्व विधायक आशा सिन्हा ने कहा कि हम लोगों को बाबा साहब के आदर्शों पर सदा चलने के लिये संकल्पित रहना चाहिए.  

Find Us on Facebook

Trending News