बच्चों के लिए गांव के छात्रों ने शुरू किया परामर्श केंद्र, जीवन में सही रास्ता दिखाने के लिए करते हैं उत्साहित

बच्चों के लिए गांव के छात्रों ने शुरू किया परामर्श केंद्र, जीवन में सही रास्ता दिखाने के लिए करते हैं उत्साहित

शेखपुरा। लॉकडाउन में जहां ज्यादातर बच्चे घरों में बंद थे, वहीं शेखपुरा के बरबीघा के रामपुर सिंडाय के छात्र-छात्राएं गांव के बच्चों के लिए नई योजना बना रही थी। इस योजना ने एक ऐसे केंद्र की शुरुआत हुई. जिनका उद्देश्य बच्चों को जीवन में सही रास्ते पर चलने के लिए उनका उत्साह बढ़ाना है। स्कूली छात्रों ने इस केंद्र को नाम दिया परामर्श एक नई सोच। बच्चों के इस अनोखे केंद्र को गांव के लोगों का समर्थन तो मिला ही, खुद यहां आयोजित कार्यक्रम में उनका हौंसला बढ़ाने के लिए भाजपा की प्रदेश मंत्री पूनम शर्मा मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुई। 

उन्होंने वाद विवाद नृत्य संगीत मे अव्वल रहे बच्चों को पुरस्कार वितरण कर नये साल में रचनात्मक विकास की ओर बढने और शिक्षा की ओर अग्रसर रहने की शुभकामना दिया। उन्होंने कहा कि लडके और लडकी की भेद न कर समानता के साथ आगे बढने की जरुरत अब हर घर के नियमित संस्कार में होनी चाहिए। इंसान बनने सोच यदि शुरु से ही दिया जाय तो समाज में कहीं भी विध्वंसात्मक रवैया नहीं पनपेगा और बलात्कार, प्रताड़ना, शोषित करने की प्रवृति पर भी रोक लगाने में सहायता मिलेगी। 

प्रदेश मंत्री ने कहा कि  शिक्षित होने के लिए किताबी ज्ञान सिर्फ नहीं हो। आर्थिक शोषित बच्चे पर विशेष ध्यान की जरुरत है। उन्होंने कहा कि विशेषत: धन्यवाद के पात्र रोहित,आकांक्षा आयुषी मोहन कुणाल हैं जिसने नई सोच को नई दिशा परामर्श के नाम पर दिया। युवा अपनी उर्जा को सकारात्मक दिशा में इन प्रयासों के साथ अनवरत जारी रखें। गोष्ठी में अपना  सुझाव और अनुभव को हाईस्कूल बरबीघा के प्रधानाचार्य संजय कुमार ने भी अतिथि के रुप में साझा किया।


Find Us on Facebook

Trending News