बंगाल से उल्टे पांव लौटे श्याम रजक, टीएमसी से सीट बंटवारे पर बोले - यह महत्वपूर्ण नहीं

बंगाल से उल्टे पांव लौटे श्याम रजक, टीएमसी से सीट बंटवारे पर बोले - यह महत्वपूर्ण नहीं

पटना। पश्चिम बंगाल चुनाव में ममता बनर्जी से गठबंधन की उम्मीद पाले बैठे राजद को बड़ा झटका लग सकता है। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं कि क्योंकि बंगाल से उल्टे पांव लौटे पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव श्याम रजक का कहना है कि उनके लिए सीट महत्वपूर्ण नहीं है। विचार मिलने चाहिए। जबकि इससे पहले राजद पश्चिम बंगाल में ममता की टीएमसी से दो सीटों पर चुनाव लड़ने की मांग कर चुकी है। जाहिर है कि जिस तरह की बातें श्याम रजक कह रहे हैं, उससे साबित होता है कि ममता ने सीटों के बंटवारे से इनकार कर दिया है।

आरजेडी के वरिष्ठ नेता श्याम रजक बंगाल से लौटे हैं। जहां बताया जा रहा है कि उन्होंने टीएमसी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से मुलाकात कर चुनाव में गठबंधन का बिना शर्त समर्थन करने का प्रस्ताव दिया था। साथ ही आसनसोल और एक अन्य सीट पर उन्होंने चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर की थी। लेकिन बताया जा रहा है कि टीएमसी ने उनके प्रस्ताव पर कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। जिसके बाद उन्हें उल्टे पांव वापस लौटना पड़ा है। अब राजद महासचिव यह कह रहे हैं कि उनकी पार्टी के लिए सीट से ज्यादा विचार का मिलना महत्वपूर्ण है।  

क्या कहा श्याम रजक ने

श्याम रजक ने कहा कि  हमारी इस बार जोरदार कोशिश है कि इस बार भारतीय जनता पार्टी को बंगाल में पनपने से रोकना है साथ ही साथ उन्होंने कहा कि हम आसाम भी गए थे। जहां एनआरसी को लेकर लगातार विरोध हो रहा है और बीजेपी को लेकर लोगों में नाराजगी है।

गौरतलब है कि तेजस्वी यादव ने कहा था बंगाल में चुनाव लड़ने का फैसला श्याम रजक की रिपोर्ट के बाद किया जाएगा। अब जिस तरह की बातें श्याम रजक कहते नजर आ रहे हैं, उसके बाद अब तेजस्वी के बंगाल चुनाव को लेकर आगे क्या कदम उठाएंगे, यह देखना दिलचस्प होगा। 


Find Us on Facebook

Trending News