बैंक कर्मी की गोली मारकर हत्या किये जाने के बाद पहली पत्नी को पुलिस ने किया गिरफ्तार, कई बॉयफ्रेंड रखती है मोहतरमा

बैंक कर्मी की गोली मारकर हत्या किये जाने के बाद पहली पत्नी को पुलिस ने किया गिरफ्तार, कई बॉयफ्रेंड रखती है मोहतरमा

लखीसराय: खबर लखीसराय सही जहां सूर्यगढ़ा क्षेत्र में बैंक ऑफ इंडिया (Bank Of India) के एक कर्मचारी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. मामले की जानकारी देते हुए मेहंदी पुलिस स्टेशन के एसएचओ (SHO) रुबिकांत कश्यप ने बताया कि घटना तब हुई जब बैंक कर्मचारी ऋषिदेव कुमार बुधवार शाम सूर्यगढ़ा स्थित अपने आफिस से घर लौट रहे थे तभी कुछ अज्ञात लोगों ने बैंक कर्मी ऋषिदेव कुमार पर गोली चलाई और मौके से फरार हो गए. अभी तक पुलिस हत्यारे का पता नहीं लगा पाई है पुलिस ने फ़िलहाल उसकी पहली को गिरफ्तार कर लिया है और मामले की जांच में जुट गयी है आप को बता दें सात जन्म तक साथ रहने के लिए अग्नि के सात फेरे लेने वाली पत्नी की बेवफाई से तंग आकर बैंक कर्मी ऋषिदेव कुमार इतना आहत रहता था की उसने दूसरी शादी कर ली थी. 

पत्नी की नौकरी लेखापाल के पद पर होने के बाद बेरोजगारी का दंश झेल रहे ऋषिदेव अपनी पत्नी नूतन मेहता से उपेक्षित रहने लगा था. पत्नी का पद उससे बड़ा था इसलिए पत्नी हमेशा उसे ताने देती जिस भारत वर्ष में पति को स्वामी और पत्नी को देवी का दर्ज़ा दिया जाता है वहां पत्नी को अपने पद का इतना अहंकार था की अपने पति की कोई इज्ज़त नहीं करती थी लेकिन कहते है भगवान के घर में देर है लेकिन अंधेर नहीं तनाव और विवाद के बीच ऋषिदेव ने अपनी मेहनत से बैंक की नौकरी हासिल की अब वो दूसरी शादी करके अपनी दुनिया मजे में जी रहा था. लेकिन, उसकी जिदगी का अंत इस तरह से हो जाएगा यह किसी ने नहीं सोचा था. अब आप को देव की कहानी बताते हैं ऋषिदेव की पहली शादी 12 मार्च 2006 को हुसैना गांव के शिवनंदन महतो की पुत्री नूतन मेहता से हुई थी. इससे 13 साल का उसे एक बेटा है जो अभी नूतन के पास रहता है. शादी के सात साल बाद दोनों के बीच वैवाहिक जीवन में खटास आ गई और मामला तलाक तक पहुंच गया. इस बीच नूतन मेहता ने ऋषिदेव कुमार पर दहेज उत्पीड़न सहित कई मामले दर्ज कराई थी.बता दें इसमें ऋषिदेव जेल भी गया था. 


फिर दोनों ने तलाक मामले को अनिर्णय की स्थिति में छोड़कर अलग-अलग रहने लगे थे. इसी बीच ऋषिदेव की नौकरी बैंक ऑफ इंडिया में लग गई. नौकरी लगने के बाद ऋषिदेव ने 2016 में बेगूसराय जिले के चौकी सादपुर गांव में प्रीती कुमारी के साथ शादी रचा ली। इससे ऋषिदेव के दो बच्चे हैं. ऋषिदेव की दूसरी शादी की सूचना पर भी उनकी पहली पत्नी नूतन मेहता ने मेदनीचौकी थाना में केस दर्ज कराई थी. अलग रहने के बाद भी दोनों के बीच मोबाइल पर बराबर लड़ाई झगड़े होते रहता था. बताया जा रहा है कि नूतन मेहता के कई पुरुष मित्र हैं जिन्होंने कई बार ऋषिदेव को धमकी भी दी थी. आप को बता दें ऋषिदेव की हत्या अज्ञात लोगों ने कर दी पुलिस सूत्रों की मानें तो नूतन मेहता से पुलिस को काफी अहम जानकारी हाथ लगी है. इसके जरिए पुलिस मुख्य हत्यारे तक पहुंचने में जुटी हुई है. पुलिस ने बोला है जल्द से जल्द वो कातिल तक पहुंच जायेगी.

Find Us on Facebook

Trending News