दलित के घर जा रही बरात को दबंगों ने नहीं दिया रास्ता, जमकर हुआ हंगामा

दलित के घर जा रही  बरात को दबंगों ने नहीं दिया रास्ता, जमकर हुआ हंगामा

NEWS4NATION DESK : कभी दलित का बारात किसी उंची जाति के घर के सामने से बैंड बाजा और नाचगान करते नहीं जाया करती थी। इस भेदभाव को खत्म करने के कानून बनाए गए, लेकिन आज भी यह पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। एक ऐसी ही घटना हरियाणा से सामने आई है। जहां दबंग ने एक दलित के बारात को अपने सामने से नहीं गुजरने दिया। जिसके बाद जमकर हंगामा हुआ। 

घटना के संबंध में बताया गया है कि हरियाणा के फरीदाबाद से सटे भूपानी इलाके के भसकौला गांव में शनिवार की रात दलित की बेटी की बरात को ऊंची जाति के दबंगों ने रास्ता नहीं दिया। बताते हैं कि अपने घर के सामने से बैंडबाजा और डीजे भी नहीं निकलने दिया। हारकर बरात रास्ता बदलकर दुलहन के दरवाजे तक पहुंची। आलम यह रहा कि दोनों समुदाय के लोग आमने-सामने आ गए। पुलिस ने किसी तरह रात में ही मामला संभाला।
 
 दुलहन के पिता ने बताया कि उनकी बेटी की बरात सेहतपुर से आई थी। चढ़त की रस्म शुरू हुई तो पड़ोसी गांव महावतपुर के राजपूत समुदाय के दबंगों ने यह कहकर विरोध किया कि उनके दरवाजे के सामने से बरात न निकाली जाए। उन लोगों ने रास्ते में ट्रैक्टर खड़ा कर दिया। अपशब्द भी कहे और मारपीट पर आमादा हो गए। 

वहीं दूसरी ओर, राजपूत समुदाय का कहना है कि डीजे की आवाज बहुत तेज थी। इसे कम करने के लिए कहा गया था, जिस पर बराती राजी नहीं हुए। इसके अलावा कोई और बात नहीं हुई। घटना के विरोध में रविवार सुबह दलित समुदाय ने भूपानी थाने में डेरा डाल दिया। साथ में कुछ संगठन भी थे। पुलिस ने सरपंच की मौजूदगी में दोनों पक्षों के बीच आमने-सामने बैठक कराई और शांति कायम रखने पर सहमति जताई। एसएचओ कुलदीप सिंह ने बताया कि एससी-एसटी ऐक्ट में केस दर्ज कर लिया गया है।

Find Us on Facebook

Trending News