अब 'दादा' ने लिखी कार्यकर्ताओं को चिट्ठी-कहा- 'छोड़ दीजिए कौन क्या कह रहा...'

अब 'दादा' ने लिखी कार्यकर्ताओं को चिट्ठी-कहा- 'छोड़ दीजिए कौन क्या कह रहा...'

PATNA: जदयू के प्रदेश जदयू अध्यक्ष व सांसद बशिष्ठ नारायण सिंह ने जदयू के कार्यकर्ताओं को पत्र भेजा है। रविवार को भेजे अपने पत्र में उन्होंने जदयू की रीति-नीति, जदयू नीत सरकार के कामकाज और चुनाव में पार्टी के नारे 15 साल बनाम 15 साल को रेखांकित करते हुए कहा है कि छोड़ दीजिए कि कौन क्या कह रहा है, हमें एनडीए के सभी प्रत्याशियों की जीत सुनिश्चित करने में लगना है। भारी बहुमत से नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए की सरकार फिर से बनानी है। नीतीश कुमार ने बिहार की सूरत बदल दी है, अभी उनके नेतृत्व में विकास के कई और पन्ने लिखे जाने हैं। 

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि सुशासन के संकल्प पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार खरे उतरे हैं। पिछले 15 वर्षों में हमने विकसित बिहार की नई कहानी लिखी है। इस आधार पर हमें पूरे मनोबल के साथ चुनाव मैदान में जाना है। हम डटकर लड़ेंगे और अवसरवादी ताकतों को एक बार फिर शिकस्त देंगे। उन्होंने कहा है कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में हम आपलोगों के साथ मिलकर एनडीए के लिए सभी सीटें जीतना चाहते हैं ताकि बिहार में विकास की एक बड़ी लकीर खींची जा सके। हमें बीजेपी, हम, वीआईपी और अपनी पार्टी जदयू के प्रत्याशियों के पक्ष में वोट इकट्ठा करना है। 

इस 'महायज्ञ' में अपना शत-प्रतिशत दें और बिहार में एक बार फिर एनडीए की सरकार सुनिश्चित करें। हम परिवारवाद, जातिवाद, वर्णवाद से ऊपर उठकर गांधी, जेपी और लोहिया के सिद्धांतों पर चलने वाले और समावेशी राजनीति में विश्वास करने वाले लोग हैं और आगे भी इन्हीं सिद्धांतों को अमल में लाते रहेंगे, यह आपसे वादा है।

उन्होंने राजद के 15 साल के शासन की याद भी विस्तार से दिलायी है। कहा, उनके पास 'जंगलराज' का काला इतिहास मात्र है। हमारी सरकार ने बिहार को जंगलराज से निकालकर उन्नति के शीर्ष पर ला खड़ा किया है और इसे बिहार की अवाम अच्छी तरह समझती है। पिछले चुनाव में नीतीश कुमार ने सात निश्चय का संकल्प लिया था और अब सात निश्चय-2 का संकल्प जनता के सामने है। नौजवानों, किसानों, महिलाओं, वृद्धों, शहरों-गांवों और हर खेत के लिए नया निश्चय में किये गये संकल्प निश्चित पूरे होंगे। 

Find Us on Facebook

Trending News