बीजेपी कार्यकर्त्ता से पहले मैं एक ब्राह्मण का बेटा,जुबान काटने वाले बयान पर अभी भी कायम, माफ़ी मांगे तो गले लगा लूँगा: गजेन्द्र झा

बीजेपी कार्यकर्त्ता से पहले मैं एक ब्राह्मण का बेटा,जुबान काटने वाले बयान पर अभी भी कायम, माफ़ी मांगे तो गले लगा लूँगा: गजेन्द्र झा

PATNA : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी द्वारा ब्राह्मणों पर दिए गए बयान पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। भाजपा कार्यसमिति के सदस्य गजेन्द्र झा ने मांझी के इस बयान के बाद आक्रोश जाहिर करते हुए उनका जीभ काटकर लानेवाले को 11 लाख रूपये इनाम देने का एलान कर दिया। साथ ही उसके पूरे जीवन भरण पोषण का भी इंतजाम करेंगे। इस बयान पर झा अभी भी कायम है। हालाँकि उन्होंने कहा की यह पार्टी की ओर से दिया गया बयान नहीं है। मेरे बयान से पार्टी का कोई लेना देना नहीं है।

उन्होंने कहा की अगर जीतनराम मांझी खुले मंच से माफ़ी नहीं मांगते है और यह सुनिश्चित नहीं करेंगे की आगे से वे ऐसा नहीं करेंगे। तब तक वे एलान पर कायम रहेंगे। गजेन्द्र झा ने कहा की इनके नाम में राम लगा है। लेकिन इन्हें राम में कोई आस्था नहीं हैं। हिन्दू धर्म को गाली दिया। अब ब्राह्मणों को गाली दे रहे हैं। मैं ब्राह्मण का बेटा होने के नेता, राष्ट्रवादी हिन्दू होने के नाते और हिन्दू धर्म में आस्था होने के कारण मैंने यह बयान दिया है। उन्होंने कहा की जीतनराम मांझी को हिन्दू धर्म से इतना ही दिक्कत है तो धर्म क्यों नहीं बदल लेते हैं। वे गाली भी देते हैं और राम को मानते भी नहीं है। ऐसा दोहरा रवैया नहीं चलने देंगे। पोलिटिकल माइलेज लेने के सवाल पर गजेन्द्र झा ने कहा की कोई हिन्दू हिन्दुस्तान के अपमान का, हिन्दुओं के अपमान का, हिन्दू देवी देवताओं के अपमान का, अपने कुल के मान सम्मान के रक्षा के लिए कोई ब्राह्मण का बेटा बोल रहा है तो पोलिटिकल माइलेज कैसे ले रहा है। जबकि जीतनराम मांझी सुनियोजित ढंग से ऐसे बयान दे रहे हैं। 

उन्होंने कहा की सर कटा लूँगा लेकिन सर झुकाउंगा नहीं। हालाँकि गजेन्द्र झा ने कहा की अगर जीतनराम मांझी माफ़ी मांग लें और आगे से ऐसा नहीं करने का वादा करें तो वे गले लगाने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा की हमें उनके विचार से नफरत है, इंसान से कोई नफरत नहीं है। जीतनराम मांझी के सुरक्षा के घेरे में रहने के सवाल पर गजेन्द्र झा ने कहा की सुरक्षा के घेरे में कई दानव भी रहे हैं।    

पटना से देबांशु प्रभात की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News