बिहार के इस जिले में नहीं है कानून का राज ! अक्टूबर के पहले हफ्ते से लेकर अब तक 20 लोगों की हुई हत्या

बिहार के इस जिले में नहीं है कानून का राज ! अक्टूबर के पहले हफ्ते से लेकर अब तक 20 लोगों की हुई हत्या

PATNA:  बिहार में सुशासन की सरकार है। बिहार के मुखिया अपनी हर सभा में क्राइम से समझौता नहीं करने की बात दुहराते हैं।लेकिन उनके हीं सूबे में एक ऐसा जिला है जहां सुशासन दूर-दूर तक दिखाई नहीं पड़ती।अपराधियों का मनोबल इतना बढ़ा हुआ है कि इस सुशासन राज में भी जब जहां और जिसे चाह रहे मौत की घाट उतार दे रहे हैं।अपराधी घटना को अंजाम देकर निकल जा रहे पुलिस हाथ मलते रह जा रही है।

हम बात कर रहे हैं बेगूसराय की। बेगूसराय को अगर क्राइम कैपिटल कहें तो यह गलत नहीं होगी,क्यों कि हाल के दिनों में जिस तरह से हत्या एवं अन्य आपराधिक घटनायें सामने आई हैं उससे यही कहा जा सकता है कि जिले में अपराधी पुलिस पर कई गुणा अधिक भारी पड़ रहे हैं।आप इसी से अंदाजा लगा सकते हैं कि पिछले एक महीनों के दौरान बेगूसराय में मर्डर के 20 से अधिक मामले सामने आए हैं।एक-एक दिन में तीन-तीन लोगों की गोली मार कर हत्या कर दी जा रही है।

बेगूसराय के सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह भी जिले में बेलगाम अपराध पर सवाल उठा चुके हैं।उन्होंने स्पष्ट कहा था कि जिले में अपराध बेलगाम हो चुका है।उन्होंने पुलिस को आगाह करते हुए कहा था कि ऐसे नहीं चलेगा,क्राइम पर कंट्रोल करना होगा।केंद्रीय मंत्री के तेवर तल्ख होने के बाद स्थानीय पुलिस हरकत में आई और आनन-फानन में कई केसों के उदभेदन का दावा किया। लेकिन जिस गति से बेगूसराय पुलिस केसों के उदभेदन का दावा कर रही है उससे कई गुणा अधिक तेजी से हत्या एनं अन्य आपराधिक घटनाएं घटित हो रही हैं। 

 जानिए 1 महीना में कहां कहां हुई बड़ी वारदात

 बेगूसराय में हाल के दिनों में दो ट्रिपल मर्डर की घटना हो चुकी है। एक महीने में इस जिले में 21 लोगों की हत्या हो चुकी है । अक्टूबर के पहले हफ्ते से लेकर नवंबर पहले तक जिले में अब तक 21 लोगों को हत्या हो चुकी है। इन 21 लोगों की मर्डर में दो ट्रिपल मर्डर और एक डबल मर्डर भी शामिल है।लाखो थाना क्षेत्र के बाजितपुर में 5 वर्षीय बच्ची की गला दबाकर हत्या कर दी गई,14 अक्टूबर को जमीनी विवाद में मां-पुत्र की हथौड़े से पीटकर हत्या कर दी गई। इस घटना में मुकेश सिंह एवं उषा देवी की मौके पर मौत हो गई। दिवाली की रात सिंघौल थाना क्षेत्र के मचहा गांव में कुणाल सिंह,पत्नी कंचन देवी एवं बेटी सोनम कुमारी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। 5 नवंबर को बछवाड़ा थाना क्षेत्र के चमथा गोप टोल में नागेंद्र राय,अमरजीत राय और एक महिला की मारकर हत्या कर दी गई।

जमीनी विवाद में हुई कई हत्याएं

हालांकि हत्या के इन 21 मामलों में कई मामले जमीन विवाद से जुड़े थे। दिवाली की रात हुई ट्रिपल मर्डर और पांच नवंबर को हुई तीन लोगों की हत्या के पीछे की वजह भी जमीनी विवाद ही रही है।इन अधिकांश मामलों में पुलिस के हाथ अभी तक खाली हैं. 

Find Us on Facebook

Trending News